IMD Alert : 5 राज्यों में 12 नवंबर तक बारिश का अलर्ट, पर्वतों पर बर्फबारी होगी तेज, कोहरे-धुंध से बदलेगा मौसम, जानें पूर्वानुमान

तेज बर्फबारी का असर उत्तर और मध्य राज्यों पर देखने को मिल रहा है। तापमान में गिरावट के साथ धुंध की गतिविधियों में भी वृद्धि हुई है।वहीं मौसम विभाग ने पतझड़ हवा में सर्द हवाओं का रास्ता निकलने का पूर्वानुमान जताया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मौसम (weather) में बदलाव का दौर लगातार जारी है। नवंबर महीने के एक हफ्ता बीत गया लेकिन मध्य और उत्तर भारत में सर्दी का एहसास नहीं हो रहा है। नवंबर में गर्मी लोगों को हल्की राहत मिली हुई है। वही IMD Alert ने अपने पूर्वानुमान में नवंबर अंत तक सर्दी तेज होने के आसार व्यक्त किए हैं।

कई राज्य में मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है मौसम विभाग ने पांच राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है इसके अलावा उत्तर भारत में धुंध की दस्तक देखने को मिल रही है सुबह के समय करते कोहरे के कारण वायु गुणवत्ता में प्रदूषण का स्तर घटा हुआ दर्ज किया गया है सोमवार को उत्तर प्रदेश में एकयूआई 156 दर्ज किया गया है वहीं अगले 1 सप्ताह तक प्रदेश में मौसम शुष्क बना रहेगा।

उत्तर प्रदेश के मौसम में बदलाव

उत्तर प्रदेश के मौसम में बदलाव हो रहा है। प्रदेशों में तापमान 30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। सबसे अधिक तापमान अलीगढ़ और शाहजहांपुर में 32 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है जबकि प्रदेश में सबसे कम तापमान लखीमपुर खीरी में 14% और सोनभद्र चुर्क में 15% रिकॉर्ड किया गया।

Read More :  वनवास के दौरान जिन जगहों पर ठहरे थे भगवान राम, जल्द-ही वहां केंद्र सरकार बनाएगी कॉरिडोर  

बिहार में फिलहाल मौसम शुष्क

बिहार में फिलहाल मौसम शुष्क बना हुआ, आने वाले दिनों में जल्दी बिहार में मौसम में बड़े बदलाव देखने को मिलेंगे। अगले सप्ताह तक तापमान में गिरावट का पूर्वानुमान जारी करते हुए मौसम वैज्ञानिकों ने कहा है कि जम्मू कश्मीर में बर्फबारी तेज हो रही है। 13 नवंबर के बाद राज्य में इसका असर देखने को मिलेगा।

पर्वतों पर बर्फ़बारी

बर्फबारी के कारण ठंडी हवा से प्रदेश में पारा नीचे जाने के आसार जताए गए हैं। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 32 से 32 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है जबकि कम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। जम्मू कश्मीर पिछले कुछ दिनों से कई जगह पर बारिश हो रही है। इसके ऊपरी इलाके में बर्फबारी का दौर जारी है। जिसका असर बिहार पर पड़ेगा 9 से 11 नवंबर के बीच तापमान में भारी गिरावट की चेतावनी जारी की गई है।

झारखंड में मौसम बदलने का सिलसिला जारी

झारखंड में मौसम बदलने का सिलसिला जारी रहेगा। मौसम विभाग के मुताबिक अगले कुछ दिनों में झारखंड में धुंध की और तेज दस्तक देखने को मिलेगी। इसके अलावा कोहरे से मौसम पड़ा रहेगा। रांची मौसम केंद्र के मुताबिक नवंबर के अंतिम सप्ताह तक प्रदेश में ठंड की दस्तक देखने को मिलेगी। वहीं कई जिलों में न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा रहा है।

जम्मू-कश्मीर हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड के ऊपरी क्षेत्रों में बर्फबारी की गतिविधियां तेज हुई है। वहीं जम्मू-कश्मीर सहित उत्तराखंड के कई क्षेत्रों में बारिश का दौर देखने को मिल रहा है। कुछ क्षेत्रों में लगातार हो रही बूंदाबांदी से मौसम सुहावना बना हुआ है। हालांकि तेज बर्फबारी का असर उत्तर और मध्य राज्यों पर देखने को मिल रहा है। तापमान में गिरावट के साथ धुंध की गतिविधियों में भी वृद्धि हुई है।

वहीं मौसम विभाग ने पतझड़ हवा में सर्द हवाओं का रास्ता निकलने का पूर्वानुमान जताया है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि हिमालय पर्वतमाला के कई क्षेत्रों में बर्फबारी तेज हो गई है। जम्मू कश्मीर के अलावा हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड और लद्दाख में 10 नवंबर को बारिश और बर्फबारी और अधिक तीव्र होगी।

Read More : PM Kisan: किसानों के लिए अच्छी खबर, हर महीने मिलेगी 3000 पेंशन, बस करना होगा ये काम, जानें पूरी प्रक्रिया

मौसम अपडेट 

  • IMD के अनुसार 9 नवंबर के आसपास श्रीलंका के तट पर दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की भी उम्मीद है। अगले 48 घंटों के दौरान इसके उत्तर-पश्चिम की ओर तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों की ओर बढ़ने की संभावना है।
  • उत्तरी राज्य जम्मू और कश्मीर, साथ ही दक्षिणी राज्य तमिलनाडु और केरल अभी भी ‘येलो अलर्ट’ के तहत हैं।
  • आज 7 नवंबर और 9-10 नवंबर से जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में मध्यम बारिश या बर्फबारी की संभावना है।
  • उत्तराखंड में भी 7 नवंबर और 9-10 नवंबर को मध्यम बारिश या बर्फबारी की संभावना है।
  • कश्मीर के ऊंचाई वाले इलाकों में रविवार तड़के ताजा हिमपात हुआ, जबकि मैदानी इलाकों में मध्यम बारिश हुई। लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश द्रास में बर्फ गिरी।

मौसम प्रणाली

दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी से सटे भूमध्यरेखीय हिंद महासागर में श्रीलंका के दक्षिणी तट से दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक चलने वाली एक पूर्व-पश्चिम ट्रफ अब निचले क्षोभमंडल स्तरों में देखी गई है, इसके प्रभाव में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी वर्षा हो सकती है।

11 नवंबर से तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और 12 नवंबर को दक्षिण आंध्र प्रदेश में छिटपुट भारी गिरावट और गरज के साथ हल्की/मध्यम वर्षा के साथ व्यापक रूप से व्यापक वर्षा हो सकती है।

9 नवंबर को श्रीलंका तट से दूर दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र (एलपीए) बनने की संभावना है। इसके उत्तर-पश्चिम की ओर तमिलनाडु-पुडुचेरी तटों की ओर बढ़ने की उम्मीद है। जिससे बारिश की सम्भावना है।

बारिश की भविष्यवाणी

  • 9-10 नवंबर को उत्तरी पंजाब और उत्तरी हरियाणा में और 8 नवंबर को उत्तरी राजस्थान में हल्की बारिश या बूंदा बांदी की संभावना है।
  • 11 नवंबर से, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे और दक्षिण आंध्र प्रदेश में गरज के साथ मध्यम से भारी वर्षा और बिजली गिरने की संभावना है।
  • मौसम सेवा ने 11 नवंबर को तमिलनाडु-पुडुचेरी-कराइकल में बहुत भारी बारिश की भी भविष्यवाणी की है।
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 7 और 8 नवंबर को मध्यम से भारी बारिश की भी संभावना है।

इन क्षेत्रों में बारिश की सम्भावना

  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में व्यापक बारिश और गरज के साथ छिटपुट बारिश की संभावना है। हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में अलग-अलग जगहों पर बर्फबारी या बारिश संभव है।मध्य भारत में सुबह-सुबह घना कोहरा छाएगा।
  • तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, केरल, माहे और लक्षद्वीप में गरज के साथ छिटपुट बौछारें पड़ने का अनुमान है। राजस्थान, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, तटीय कर्नाटक और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में छिटपुट बारिश हो सकती है।