IMD Alert : 13 राज्यों में 14 नवंबर तक बारिश की चेतावनी, पश्चिम विक्षोभ सक्रिय, ऑरेंज अलर्ट जारी, पर्वतों पर तेज हुई बर्फबारी

शुक्रवार की सुबह से उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में ठंड बढ़ने शुरू हो जाएगी। अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जाएगा। लखनऊ और आसपास हल्की बदली छाई रहेगी। हवा का रुख उत्तर और पश्चिम उत्तर की वजह पूर्व की तरफ बढ़ेगा।

IMD

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के मौसम (weather) के मिजाज में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है। पहाड़ों पर बर्फबारी शुरू हो गई है। दक्षिण के राज्य में लगातार बारिश (rain) से लोग परेशान है। वही IMD Alert के मुताबिक उत्तर और मध्य भारत में गुलाबी ठंड की दस्तक के साथ ही एक बार फिर से ठिठुरन बढ़ने लगी है। पश्चिमी विक्षोभ (western disturbance) के सक्रिय होने के कारण 13 राज्यों में बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। गुजरात राजस्थान हरियाणा पंजाब सहित राजधानी दिल्ली में एक तरफ जहां बौछार पड़ने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है।

दूसरी तरफ मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में भी कुछ क्षेत्रों में बूंदाबांदी का दौर देखने को मिलेगा। पहाड़ी राज्य में कई दिन से बर्फबारी जारी है। अगर बारिश तेज हो गई है। जिसके कारण कई इलाकों में तापमान का पारा गिरकर शून्य से नीचे – पहुंच गया है। वहीं बर्फबारी के कारण सड़कें बंद हो गई है और यातायात व्यवस्था पूरी तरह से बाधित हो गई है।

Read More : मालदीव की राजधानी माले में आगजनी की घटना में 9 भारतीयों की हुई मौत, भारतीय उच्चायोग ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर

दिल्ली में आज मौसम बदल सकते है। राजधानी दिल्ली में ठंड की दस्तक के साथ ही प्रदूषण में भी इजाफा देखने को मिला था। पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने की घटना से दिल्ली में तेजी से प्रदूषण में वृद्धि देखी गई थी। वहीं मौसम विभाग के पूर्वानुमान के बारे में तो आज दिल्ली में लोगों को राहत मिलेगी। बूंदाबांदी से प्रदूषण की समस्या से निजात मिल सकता है। मौसम विभाग ने ट्वीट करते हुए जानकारी दिया कि अगले 2 घंटे में पानीपत हरियाणा बागपत नंदगांव बरसाना राया मथुरा जलेश्वर यूपी के कई इलाकों और आसपास के इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिलेगी।

उत्तर प्रदेश में मौसम जल्द ही पलटने वाला है। हवा का रुख बदल गया है। कल से ठंड बढ़ने की संभावना जताई गई है। घरों में पंखे नहीं चल रहे हैं। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक तापमान में भारी गिरावट देखी जाएगी। गुरुवार सुबह तक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो जाएगा जबकि गुरुवार शाम तक इसका असर कम होने लगेगा। शुक्रवार की सुबह से उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में ठंड बढ़ने शुरू हो जाएगी। अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जाएगा। लखनऊ और आसपास हल्की बदली छाई रहेगी। हवा का रुख उत्तर और पश्चिम उत्तर की वजह पूर्व की तरफ बढ़ेगा। पूर्वी हवा चलने की वजह से तापमान में 30 फीसद की गिरावट देखने को मिल सकती है।

बिहार : तापमान में गिरावट का दौर जारी

बिहार में सबसे कम तापमान वाला क्षेत्र सुपौल अररिया किशनगंज घोषित किया गया। इन जिलों में जून माह से लेकर औसत तापमान 32 डिग्री सेल्सियस बना हुआ है। सात से आठ जिलों में तापमान में गिरावट का दौर जारी है। बिहार में औसत उच्चतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहता है दक्षिण बिहार की तुलना में इस बार उत्तरी बिहार में गर्मी अधिक पड़ी है। हालांकि मौसम में तेजी से बदलाव देखने को मिल सकते हैं

मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि गर्मी और ठंडी दोनों ही अधिक महसूस होने के आसार नजर आ रहे हैं। अब तापमान में गिरावट के बाद न्यूनतम तापमान में भी गिरावट का सिलसिला जारी है। जिसका असर तेजी से देखने को मिलेगा। कई क्षेत्रों में बौछार पड़ने का अलर्ट भी जारी कर दिया गया है।

मौसम प्रणाली की बात करें तो श्रीलंका तट से दूर दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक निम्न दबाव का क्षेत्र बन गया है। अगले कुछ घंटे में इसकी उत्तर पश्चिम की और तमिलनाडु तट की ओर बढ़ने की संभावना है। जिसके कारण तमिलनाडु केरल तटीय आंध्र प्रदेश और आंतरिक कर्नाटक के कुछ स्थानों पर बारिश का पूर्व अनुमान जताया गया। 13 नवंबर तक तमिलनाडु पुडुचेरी कराई कल में भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के मौसम में भी बदलाव

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के मौसम में भी बदलाव देखने को मिलेगा। आसमान में बादल छाए रहेंगे। कई इलाकों में बूंदाबांदी का अलर्ट जारी कर दिया। छत्तीसगढ़ में एक तरफ जहां दो संभाग में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। दूसरी तरफ मध्य प्रदेश के भी 8 जिलों में बारिश का पूर्वानुमान जारी किया गया है। तापमान में भी गिरावट को लेकर चेतावनी जारी की गई है।

पश्चिमी विक्षोभ का असर

हरियाणा पंजाब सहित गुजरात और राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ का असर दिखेगा। हिमालय क्षेत्र में बने पश्चिमी विक्षोभ के कारण दिल्ली समेत हरियाणा के कई हिस्से और पंजाब के कई हिस्सों में आज बारिश देखने को मिलेगी। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ का असर 13 नवंबर तक रहने की संभावना मौसम विभाग द्वारा जताई गई है।

पर्वतीय राज्य में बारिश सहित बर्फबारी

पर्वतीय राज्य में बारिश सहित बर्फबारी का सिलसिला जारी है। गिलगित बालटिस्तान जम्मू कश्मीर सहित उत्तराखंड और हिमाचल में बारिश और बर्फबारी का दौर जारी किया गया है जबकि लद्दाख में तापमान में भारी गिरावट देखने को मिली है। तेज हो रही बर्फबारी के कारण जल्द ही उत्तर भारत में इसका व्यापक असर देखने को मिलेगा। साथ ही ठिठुरन बढ़ेगी।

इन क्षेत्रों में बारिश

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में व्यापक बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और पंजाब में छिटपुट बारिश / बूंदा बांदी की संभावना है।आंध्र प्रदेश, केरल, माहे और लक्षद्वीप में गरज के साथ छिटपुट बौछारें पड़ने का अनुमान है।अन्य क्षेत्रों में शुष्क मौसम की संभावना है।

तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल के कुछ हिस्सों में भारी बारिश संभव है। बिजली गिरने की संभावना के साथ तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में अलग-अलग वर्षा होने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में व्यापक स्तर पर बर्फबारी या बारिश की संभावना है। उत्तर और मध्य भारत के अंतर्देशीय क्षेत्रों में सुबह-सुबह घना कोहरा संभव है।

मौसम प्रणाली

  • बंगाल की दक्षिण-पश्चिम खाड़ी के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र (एलपीए) गुरुवार के दौरान और अधिक चिह्नित होने की संभावना है और शनिवार से उत्तर-पश्चिम की ओर तमिलनाडु, पुडुचेरी तट की ओर और अधिक महत्वपूर्ण विकास के बिना ट्रैक किया जा सकता है।
  • इन प्रणालियों के प्रभाव में, शुक्रवार और शनिवार को तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल और आंध्र प्रदेश के अलग-अलग स्थानों में बहुत भारी वर्षा संभव है।
  • गुरुवार को दिल्ली और आसपास के इलाकों में बारिश या बूंदाबांदी का भी अनुमान है।
  • एलपीए के आने से पहले ही, तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के तटों पर 65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।
  • इस बीच, एक पश्चिमी विक्षोभ (WD) शुक्रवार तड़के पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र को प्रभावित करना जारी रखेगा, जिससे मुख्य रूप से हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में बारिश और हिमपात होगा।