IMD Alert : गोवा महाराष्ट्र में बारिश का रेड अलर्ट, कई राज्यों में बारिश-गरज-चमक की चेतावनी, दिल्ली-बिहार सहित उत्तर भारत में बढ़ेगा तापमान

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा कि संबंधित चक्रवाती परिसंचरण समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है, जो ऊंचाई के साथ दक्षिण की ओर झुका हुआ है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के कई राज्यों में एक तरफ जहां भारी बारिश के लिए IMD ने अलर्ट (IMD Alert) जारी किया गया है। वहीं उत्तर भारत सहित बिहार झारखंड बंगाल में तापमान (Temperature)  में एक से दो फीसद की बढ़ोतरी देखी जाएगी। दरअसल मौसम विभाग (Weather Department) ने महाराष्ट्र गोवा के लिए रेड अलर्ट (Red alert) जारी किया है। गोवा में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। जिसको देखते हुए गोवा के स्कूलों में छुट्टियां घोषित कर दी गई है। इसके अलावा पूर्वोत्तर राज्यों में भी बारिश का दौर जारी है। दरअसल असम मेघालय मणिपुर नागालैंड सहित अन्य राज्यों में अगले 5 दिनों तक बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

इधर मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में भी मौसम सुहावना बना हुआ है। लगातार हो रही बारिश तापमान में कमी देखी जा रही है। हालांकि उत्तर भारत में 12 जुलाई के बाद मौसम में बदलाव की संभावना जारी की गई है। हिमाचल उत्तराखंड सहित पर्वतीय क्षेत्रों और यूपी बिहार झारखंड और पश्चिम बंगाल में भी मौसम में बदलाव 12 जुलाई के बाद देखे जाएंगे। हालांकि तब तक तापमान में वृद्धि रिकॉर्ड की जाएगी। इसके अलावा आसमान में बादल घिरे रहेंगे।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) द्वारा गोवा के कुछ हिस्सों में “अत्यधिक भारी वर्षा” की भविष्यवाणी करने और शुक्रवार के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी करने के बाद, सरकार ने आज (शुक्रवार) और कल के लिए कक्षा I और VII के बीच के बच्चों के लिए स्कूल की छुट्टी की घोषणा कर दी है।

आईएमडी गोवा ने 7, 9 और 10 जुलाई के लिए ‘नारंगी’ चेतावनी और 8 जुलाई के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी की है। जारी एक परिपत्र में, शिक्षा निदेशक शैलेश आर सिनाई ज़िंगदे ने कहा: “भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी रेड अलर्ट के मद्देनजर, गोवा केंद्र ने दोनों जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा और अत्यधिक भारी वर्षा की भविष्यवाणी की है।

Read More : UGC की बड़ी तैयारी, 2023 में खुलेंगे डिजिटल यूनिवर्सिटी, अंशकालीन PhD पर बड़ी अपडेट

इधर महारष्ट्र में शहर और उपनगरों में बारिश जारी रही, जिससे कई स्थानों पर जलभराव और ट्रैफिक जाम की स्थिति बनी रही और मानसून से संबंधित छिटपुट घटनाएं हुईं। बारिश की गतिविधि बढ़ने के साथ, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD), मुंबई ने शुक्रवार को मुंबई, ठाणे और पालघर के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। पुणे, रायगढ़, रत्नागिरी और सतारा में भी शुक्रवार और शनिवार के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है।

शहर में अब तक इस साल सीजन की कुल बारिश का लगभग 50 प्रतिशत हो चुका है। उपनगरों के प्रतिनिधि सांताक्रूज वेधशाला ने गुरुवार तक 1,051 मिमी बारिश दर्ज की, जबकि द्वीप शहर का प्रतिनिधित्व करने वाले कोलाबा में 953 मिमी बारिश दर्ज की गई। शहर में सालाना औसतन 2,260 मिमी बारिश होती है।

एक कम दबाव का क्षेत्र अब दक्षिण पाकिस्तान और पड़ोस पर स्थित है, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि संबंधित चक्रवाती परिसंचरण समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है, जो ऊंचाई के साथ दक्षिण की ओर झुका हुआ है। जिसका असर एमपी, राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़ में दिख सकता है।

मौसम एजेंसी ने कहा कि मॉनसून ट्रफ सक्रिय है और अपनी सामान्य स्थिति से दक्षिण में है।आईएमडी ने कहा कि समुद्र के औसत स्तर पर एक ऑफशोर ट्रफ गुजरात तट से कर्नाटक तट तक जाती है। आईएमडी ने कहा कि एक चक्रवाती परिसंचरण उत्तरी ओडिशा और इससे सटे छत्तीसगढ़ में निचले क्षोभमंडल स्तर पर बना हुआ है। जिससे छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

Read More : CG Weather: नया सिस्टम एक्टिव, 1 दर्जन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, इन संभागों में बिजली गिरने की चेतावनी

व्यापक वर्षा और गरज / बिजली के साथ छिटपुट भारी वर्षा की संभावना:

अगले 5 दिनों के दौरान ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, केरल और माहे, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, तेलंगाना और कर्नाटक में लगातार बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है।

छिटपुट भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना:

अन्य राज्यों की बात करे तो तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल 7 जुलाई को, जम्मू और कश्मीर 8-9 जुलाई को, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड 7 जुलाई, इधर 09 और 10 को गुजरात क्षेत्र, 7 और 10 जुलाई को सौराष्ट्र और कच्छ, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र 10 जुलाई को बारिश का अलर्ट जारी किया गया है

तेलंगाना और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक 7 जुलाई को; विदर्भ 8 जुलाई, जबकि छत्तीसगढ़ और तटीय कर्नाटक 7-8 जुलाई को, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड 8-9 जुलाई को, पश्चिमी राजस्थान 9 जुलाई को वहीँ पूर्वी राजस्थान 10 जुलाई को बारिश का अलर्ट जारी किया गया है