IMD Alert : 17 राज्यों में 6 जून तक बारिश का अलर्ट, 5 में तापमान में होगी वृद्धि, मानसून पर मौसम विभाग की बड़ी भविष्यवाणी

इधर राजस्थान में भी तापमान में बीते 5 दिनों में वृद्धि देखने को मिलेगी। 2% की वृद्धि रिकॉर्ड की जा सकती। आसमान में बादल छाए रहेंगे।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  देश भर में एक बार फिर से मानसून (monsoon 2022) का दौर शुरू हो गया है। दरअसल कई राज्य में तेजी से मौसम में बदलाव देखने को मिल रहे हैं। भारी बारिश के कारण तपती गर्मी से राहत मिली है। IMD Alert ने 17 राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया। राजधानी दिल्ली में आज आंधी तूफान की संभावना जताई गई है। वहीं राजधानी दिल्ली में सोमवार और मंगलवार को हल्की बारिश से दिल्ली-एनसीआर सहित हरियाणा और पंजाब के कुछ राज्यों में मौसम में बदलाव देखने को मिल रहे हैं। वहीं बादल छाने से और हल्की ठंडी हवाएं चलने से मानसून की गतिविधियां भी शुरू हो गई है।

IMD ने 15 राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया। राजधानी दिल्ली में आज थंडर स्ट्रोम की संभावना जताई गई है। वहीं 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक रहने के आसार जताए गए हैं। इसके अलावा बिहार झारखंड यूपी उड़ीसा छत्तीसगढ़ गोवा सहित महाराष्ट्र और केरल कर्नाटक तमिलनाडु जैसे राज्यों में बारिश का दौर जारी रहेगा। एक के बाद एक दिन करके इन राज्य में लगातार बारिश देखने को मिल रही है। वहीं पूर्वी राज्य में भी बारिश का दौर जारी है। पूर्वी राज्य में असम मेघालय मणिपुर में बाढ़ की स्थिति के बाद लगातार बारिश देखने को मिल रही है।

इधर पर्वतीय राज्य में भी मानसून है कि देश में एंट्री के बाद मौसम बदल रहे हैं। दरअसल पर्वतीय राज्य उत्तराखंड हिमाचल लद्दाख लेह जम्मू कश्मीर में लगातार हल्की बूंदाबांदी और बारिश के अलावा आसमान में बादल छा रहे हैं। तापमान में दो से तीन फीसद की गिरावट देखी जा रही है। हिमाचल में आज मौसम साफ रहेगा आसमान में तेज धूप खिली रहेगी। वहीं अधिकतम तापमान 24 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है। इसके अलावा उत्तराखंड में न्यूनतम तापमान 14 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है।

लेह में आज बादल के साथ दूध आबादी का अलर्ट जारी किया गया है। न्यूनतम तापमान 4 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस तक की संभावना जताई गई है। इसके अलावा लद्दाख में भी आसमान में बादल छाए रहेंगे न्यूनतम तापमान 2 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 6 डिग्री संभावना जताई गई है। कश्मीर में मौसम सुहावना बना रहेगा न्यूनतम तापमान 8 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की बात करें तो आसमान साफ रहेगा। 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी। 27 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान 40 डिग्री अधिकतम तापमान रहने की संभावना जताई गई है। उत्तर प्रदेश में बीते 5 दिनों में तापमान में दो से तीन फीसद की वृद्धि रिकॉर्ड की जाएगी। हरियाणा में बादल छाए रहेंगे। न्यूनतम तापमान 30 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है। तापमान में वृद्धि के साथ ही बादल छाने से लोगों को राहत मिलेगी। वहीं पंजाब की बात करें तो न्यूनतम तापमान 26 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस रहेंगे आसमान में बादल छाए रहेंगे।

Read More : Panchayat 2 : एक्टिंग छोड़ सरकारी नौकरी ढूंढो, विकास उर्फ Chandan Roy की मम्मी ने दी नसीहत

इधर राजस्थान में भी तापमान में बीते 5 दिनों में वृद्धि देखने को मिलेगी। 2% की वृद्धि रिकॉर्ड की जा सकती। आसमान में बादल छाए रहेंगे। न्यूनतम तापमान 31 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है। वहीं गुजरात की बात करें तो गुजरात में आसमान में बादल छाए रहेंगे। हालांकि तापमान में दो से तीन फीसद की वृद्धि देखी जाएगी। वहीं न्यूनतम तापमान 28 की जबकि अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है।

इधर केरल कर्नाटक तमिलनाडु महाराष्ट्र में चमक के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। महाराष्ट्र में आसमान में बादल घिरे रहेंगे। वहीं बुधवार को बारिश की संभावना जताई गई है। केरल कर्नाटक तमिलनाडु में अधिकतम तापमान 30 से 31 डिग्री सेल्सियस तक रिकॉर्ड किया जाएगा। गोवा में भी बारिश का दौर जारी रहेगा। लगातार हो रही बारिश से न्यूनतम तापमान 27 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस तक रिकॉर्ड किए जा सकेंगे।

उड़ीसा में भी आज बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। लगातार पांच दिनों तक आसमान में बादल घिरे रहेंगे। बारिश से जनजीवन सामान्य बना रहेगा। न्यूनतम तापमान 27 जबकि अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है। वहीं बंगाल की बात करें तो बंगाल में भी मौसम सुहावना बना रहेगा। लगातार बारिश की संभावना जताई गई है। न्यूनतम तापमान 33 से 34 डिग्री सेल्सियस तक रहने के आसार जताए गए हैं।

बिहार में भी आसमान में बादल छाए रहेंगे। न्यूनतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है कि आगामी 5 दिनों में बिहार में तापमान वृद्धि देखी जाएगी। जहां तापमान बढ़कर 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। इधर पूर्वी राज्यों की बात करें तो असम मेघालय मणिपुर नागालैंड सिक्किम में बारिश का दौर जारी रहेगा। 10 जून तक इन राज्य में लगातार बारिश और गरज चमक का अलर्ट जारी किया गया है।

Monsoon 2022

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार को कहा कि इस साल मानसून की बारिश अप्रैल में उसके अनुमान से अधिक होगी, जो बेंचमार्क लॉन्ग पीरियड एवरेज (LPA) के 103% पर होगी। एजेंसी ने कहा कि बारिश चार व्यापक क्षेत्रों और देश के अधिकांश हिस्सों में स्थानिक रूप से अच्छी तरह से वितरित की जाएगी। संशोधित पूर्वानुमान ग्रीष्म (खरीफ) फसलों के लिए शुभ संकेत है।

यदि भविष्यवाणी सच होती है, तो कृषि वस्तुओं की उच्च आपूर्ति अगले कुछ महीनों में बढ़ी हुई खाद्य मुद्रास्फीति को कम करने और चावल और कई अन्य वस्तुओं के निर्यात को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। अपने पहले अप्रैल के पूर्वानुमान में, आईएमडी ने भविष्यवाणी की थी कि चार महीने के मानसून के मौसम (जून-सितंबर) के दौरान एलपीए के 99% पर क्वांटम वर्षा होगी।

रविवार को केरल तट पर मानसून की शुरुआत की आईएमडी की घोषणा पर उन्होंने कहा कि राज्य के 70% से अधिक मौसम केंद्रों ने पर्याप्त वर्षा की सूचना दी। इसके अलावा पश्चिमी हवाओं की गहराई पर्याप्त थी। निजी मौसम भविष्यवक्ता स्काईमेट ने सोमवार को आरोप लगाया कि आईएमडी ने मानसून के समय से पहले शुरू होने की घोषणा की।

मध्य अरब सागर के कुछ और हिस्सों, कर्नाटक के कुछ और हिस्सों, कोंकण और गोवा के कुछ हिस्सों, तमिलनाडु के कुछ और हिस्सों, दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के शेष हिस्सों, पूर्वोत्तर राज्यों और अगले दो-तीन दिनों के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियाँ अनुकूल हैं।

IMD ने यह भी कहा कि ला नीना की स्थिति भारतीय उपमहाद्वीप में उपलब्ध नमी को दृढ करेगी इसके मानसून के महीनों के दौरान जारी रहने की संभावना है। पूर्व, मध्य, उत्तर पूर्व और दक्षिण प्रायद्वीप क्षेत्र के कुछ हिस्सों को छोड़कर जहां बारिश सामान्य सीमा से कम होगी, अन्य सभी क्षेत्रों में कम से कम सामान्य वर्षा होगी। जून के लिए अपने पूर्वानुमान में, मौसम विभाग ने ‘एलपीए के 92-108% की सीमा में सामान्य वर्षा’ की भविष्यवाणी की है।