इंदौर 7वीं बार बना सबसे स्वच्छ शहर, CM मोहन यादव ने ग्रहण किया पुरुस्कार, जानें और किस-किस को मिला अवॉर्ड

भावना चौबे
Published on -
cm

Swachh Survekshan 2024: हमेशा की तरह इस बार भी स्वच्छता सर्वेक्षण में इंदौर ने सभी शहरों को पीछे छोड़ते हुए बाजी मार ली है। 11 जनवरी, 2024 को नई दिल्ली में आयोजित स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 के पुरस्कार समारोह में इंदौर को लगातार सातवीं बार देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित कर दिया गया है। इंदौर को 7 स्टार रेटिंग मिली है। इंदौर के साथ ही गुजरात के सूरत शहर को भी संयुक्त रूप से यह पुरस्कार मिला है।

नई दिल्ली में आयोजित स्वच्छता सर्वेक्षण अवार्ड सेरेमनी में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव को अवार्ड सौंपा। अवॉर्ड देते समय इंदौर शहर के प्रमुख स्थानों पर एल.ई.डी स्क्रीन के माध्यम से सीधा प्रसारण किया गया। जिनमें राजबाड़ा, 56 दुकान परिसर, मेघदूत उपवन, रणजीत हनुमान मंदिर परिसर, बड़ा गणपति चौराहा नगर निगम में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि सफाई मित्र की उपस्थिति में लाइव प्रसारण हुआ। आपको बता दें, मध्य प्रदेश को 6 और छत्तीसगढ़ के पांच शहरों को पांच अवार्ड मिले हैं।

जानें, किस-किस को क्या अवार्ड मिला

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल को गार्बेज फ्री सिटी का अवार्ड मिला है। शहर को गार्बेज फ्री सिटी में 5 स्टार वाटर प्लस का भी अवार्ड मिला। बुधनी नगर परिषद देश का नंबर वन कस्बा बनी। इसे स्वच्छता और वाटर प्लस में नंबर वन का ताज मिला। आपको बता दें, मध्य प्रदेश के महू को सबसे स्वच्छ कैंटोनमेंट बोर्ड का अवार्ड मिला है इस बार टोटल 9500 अंक का सर्वेक्षण हुआ है।

मध्य प्रदेश बना दूसरा सबसे स्वच्छ राज्य

इंदौर तो हमेशा की तरह इस बार भी स्वच्छ सर्वेक्षण में नंबर वन बना ही हैं, लेकिन खास बात यह है कि इस बार मध्य प्रदेश को भी देश का दूसरा सबसे स्वच्छ राज्य चुना गया है। आपको बता दें, देश का सबसे स्वच्छ राज्य महाराष्ट्र को चुना गया है। जबकि देश का तीसरा सबसे स्वच्छ राज्य छत्तीसगढ़ बना है।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News