IPS नीना सिंह बनी CISF की पहली महिला चीफ, संभालेंगी देशभर के हवाई अड्डों, सरकारी भवनों की सुरक्षा की जिम्मेदारी

भावना चौबे
Published on -
IPS nina singh

IPS Neena singh Become CISF Chief: केंद्र सरकार ने बीते दिन यानी गुरुवार, 28 दिसंबर को तीन अर्धसैनिक बलों के नए प्रमुखों की नियुक्ति की है। जिनमें से राजस्थान कैडर की सीनियर भारतीय पुलिस सेवा 1989 बैच की (IPS) ऑफिसर नीना सिंह को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की प्रमुख नियुक्त किया गया है। वहीं, भारत तिब्बत सीमा पुलिस प्रमुख अनीश दयाल सिंह अब केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के महानिदेशक होंगे। मणिपुर कैडर के 1989 बैच के आईपीएस (IPS) अधिकारी राहुल रासगोत्रा को आईटीबीपी (ITBP) के महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।

CISF neena singh

आपको बता दें, आईपीएस नीना सिंह का नाम इतिहास के पन्नों में लिखा जा चुका है। नीना सिंह पहली महिला आईपीएस (IPS) अधिकारी हैं, जिन्हें इस पद पर यह जिम्मेदारी मिली है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि CISF के 54 वर्ष के इतिहास में अब तक किसी भी महिला को नियुक्त नहीं किया गया था।

जानें, कौन है IPS नीना सिंह

नीना सिंह बिहार की रहने वाली है, उन्हें मणिपुर कैडर अधिकारी के रूप में भारतीय पुलिस सेवा में शामिल किया गया था। इसके बाद वे राजस्थान कैडर में चली गई। नीना सिंह साल 1989 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं। वर्तमान में नीना सिंह सीआईएसफ (CISF) में विशेष महानिदेशक के पद पर कार्यरत है। आपको बता दें, उनके पति रोहित कुमार राजस्थान कैडर के आईएएस (IAS) अधिकारी हैं।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News