राजसी पोशाक में दिखाई दिए महाराज सिंधिया, पुत्र सहित किया कुलदेवता का पूजन

सिंधिया ने इस मौके पर शहर के लोगों को दशहरे की बधाई देते हुए सबकी उन्नति की कामना की।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने आज शुक्रवार को दशहरे के अवसर पर देवघर गोरखी पहुंचकर कुलदेवता की पूजा की। उनके साथ उनके पुत्र महाआर्यमन सिंधिया भी थे। श्री सिंधिया और उनके पुत्र ने सिंधिया राजवंश (Scindia Dynasty) के कुल देवता की विधिविधान से पूजा की। इस दौरान महाराज सिंधिया राजसी पोषक में दिखाई दिए।

सिंधिया राजवंश की परंपरा के अनुसार दशहरे के विशेष मौके पर महाराजबाड़ा गोरखी स्थित देवघर में स्थित कुलदेवता की विशेष पूजा की जाती है।  सिंधिया राजवंश का वंशज इस पूजा में शामिल होता है। ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने पुत्र महा आर्यमन सिंधिया के साथ कुलदेवता की पूजा में शामिल हुए।

ये भी पढ़ें – Dussehra 2021 : एक ऐसा मंदिर जहां होती है रावण की पूजा और तांत्रिक क्रियाएं, नहीं होता दशानन का दहन

सिंधिया और उनके पुत्र राजसी पोशाक में देवघर पहुंचे।  देवघर पहुँचते ही पारम्परिक रूप से उनका स्वागत किया गया।  सिंधिया राजवंश के सरदारों, कर्मचारियों ने कोर्निश की परंपरा को निभाते हुए महाराज का अभिवादन किया।  सिंधिया राजवंश के तुरई और शहनाई वादकों ने मधुर धुन बजाकर महारज का स्वागत किया।

ये भी पढ़ें – विजयदशमी के पर्व पर पुलिस ने की शस्त्रों की पूजा, हर्ष फायरिंग कर लिया ये संकल्प

सिंधिया और उनके पुत्र ने राजवंश के पुरोहितों द्वारा किये गए मंत्रोच्चार के साथ कुलदेवता की पूजा की।  सिंधिया ने इस मौके पर शहर के लोगों को दशहरे की बधाई देते हुए सबकी उन्नति की कामना की।