MP : 1 लाख से अधिक हितग्राहियों को मिलेगा योजना का लाभ, पात्र को मिलेगा 2.5 लाख रुपए का अनुदान

इससे पहले 3 साल में राजधानी भोपाल में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 6072 मकान तैयार किए गए थे।

honorarium hike

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में हितग्राहियों (MP Beneficiaries) को जल्द बड़ा तोहफा मिलेगा। दरअसल पात्र हितग्राहियों (eligible beneficiaries) को 1,15,000 प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana) स्वीकृत की गई है। जिसके लिए हितग्राहियों के खाते में 2889 करोड़ रूपए अंतरित किए जाएंगे। वहीं प्रधानमंत्री आवास योजना मध्य प्रदेश के 197 नगर निकाय के हितग्राहियों को प्राप्त होगी। जिसके लिए हितग्राहियों को ढाई लाख रुपए का अनुदान दिया जाएगा।

राजधानी भोपाल में राज्य शासन द्वारा हितग्राहियों को बड़ा तोहफा दिया जाएगा। दरअसल 2 साल में 14000 लोगों को उनके घर बनवा कर दिए जाएंगे। इसके लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2 साल में 14000 से अधिक मकान बनाने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं तैयारियां भी शुरू कर दी गई है। राजधानी भोपाल में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कोकता, 12 नंबर बस स्टॉप, गंगा नगर, श्याम नगर, मालीखेड़ी, भानपुर, बाग मुगालिया में आवासीय परियोजना के तहत आवास का निर्माण किया जा रहा है।

Read More : MPPSC : राज्यसेवा मुख्य परीक्षा 2020 पर बड़ी अपडेट, एडमिट कार्ड जारी, 283 पदों पर होनी है भर्ती, 24 अप्रैल से शुरू होगी परीक्षा

वहीं साल 2024 से पहले 5793 आवासों का निर्माण और किया जाएगा। वही इन इलाकों में फिलहाल 8268 आवास बनाकर तैयार किए जा रहे हैं। इससे पहले 3 साल में राजधानी भोपाल में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 6072 मकान तैयार किए गए थे।

इस मामले में एचएएफ प्रभारी ए आर पावर का कहना है कि नगर निगम भोपाल द्वारा आवास परियोजनाओं के लिए वित्तीय संस्था से नहीं लिया गया है। स्वयं के प्रबंधन से वित्तीय व्यवस्था कर निर्माण कार्य किए जा रहे हैं। 2019-20 की बात करें तो राजधानी भोपाल में पंजीकृत हितग्राहियों की संख्या 1625 हितग्राहियों के लिए आवास का निर्माण किया गया था।

इसमें कुल ₹60 करोड़ रुपए से अधिक का खर्च हुआ था। वहीं 2020-21 में हितग्राहियों की संख्या 1817 पहुंच गई थी। जिसके लिए कुल ₹80 करोड़ रुपए खर्च करके आवास निर्माण किए गए थे। हालांकि 2021 22 में हितग्राही की संख्या 2650 हो गई जिनके लिए आवासों का निर्माण किए जा रहे हैं। उनमें 205 करोड़ रुपए खर्च किया गया है।