BJP की तैयारी, कई प्रभारियों की हो सकती है छुट्टी, जल्द होगी मंत्रियों के जिला प्रभार की घोषणा

निगम मंडलों के अध्यक्ष उपाध्यक्ष और अन्य पदों की जानकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास पहुंच चुकी है।

BJP ऑफिस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में 3 साल के बाद BJP की जिला कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गई। हालांकि इस बैठक के बाद कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) जल्द मंत्रियों को जिला का प्रभार दे सकते हैं। BJP में जल्द इसकी घोषणा की जा सकती है। इसके अलावा कई बीजेपी Media प्रवक्ताओं की पदों से छुट्टी की जा सकती है।

दरअसल बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की प्रदेश अध्यक्ष VD Sharma और प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव (P Muralidhar rao) के साथ बंद कमरे में बैठक हुई। इस बैठक में मंत्रियों को जिला प्रभारी देने के अलावा निगम मंडलों में नियुक्ति (Recruitment in corporation boards) के लिए भी नामों पर चर्चा के संकेत मिले हैं। सूत्रों की माने तो इस बैठक में कई प्रवक्ताओं की हुई कामकाज की समीक्षा की गई है।

माना जा रहा है कि जल्द ही बीजेपी सोशल मीडिया प्रभारी समेत कई प्रवक्ताओं की छुट्टी कर सकती है। दरअसल सोशल मीडिया पर बीजेपी के फॉलोवर कांग्रेस से भी कम है। जिस पर अब पी मुरलीधर राव ने नाराजगी जाहिर की है। वहीं चर्चा है कि सोशल मीडिया प्रभारी शिवराज डाबी (shivraj dabi) को जल्द हटाया जा सकता है।

Read More: अजय विश्नोई ने अपनी ही पार्टी की महिला सांसद पर साधा निशाना, कहा- मैं शर्मिंदा हूं

22 जून को भोपाल BJP प्रदेश मुख्यालय में सोशल मीडिया टीम की बैठक ली गई थी। इस दौरान सीएम शिवराज सहित प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा भी मौजूद थे। वहीं BJP द्वारा सभी सोशल मीडिया प्रभारी को आक्रमक शैली अपनाने की सलाह दी गई है। इसके अलावा फॉलोवर (followers) बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं। वहीं पी मुरलीधर राव द्वारा सभी सोशल मीडिया प्रभारियों (social media managers) को विपक्षी पार्टियों के आरोपों का जवाब देने और मुस्तैद रहने की सलाह दी गई है।

इससे पहले बीजेपी राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) सहित बीजेपी के कई दिग्गजों की बंद कमरे में बैठक हुई थी। इस दौरान निगम में नियुक्ति को लेकर चर्चाएं तेज हो गई है। वहीं प्रदेश में एक जुलाई से तबादले (transfers) की प्रक्रिया शुरू होनी है। इसके लिए नई तबादला नीति जारी कर दी गई है। इधर बीजेपी कोशिश रहेगी कि 1 जुलाई से पहले मंत्रियों को जिले का प्रभार सौंप दिया जाए। जिससे तबादला के दौरान कर्मचारियों सहित मंत्रियों को किसी भी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े।

वहीं निगम मंडलों के अध्यक्ष उपाध्यक्ष और अन्य पदों की जानकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास पहुंच चुकी है। सूत्रों की माने तो निगम मंडलों में नियुक्ति के लिए नामों पर चर्चा भी शुरू कर दी गई है। जल्द ही इस मामले में BJP आदेश जारी कर सकती है।