MP Board : इस दिन से खुलेंगे 1 से 8वीं के स्कूल! मंत्री इंदर सिंह परमार ने कही बड़ी बात, ये होंगे नियम

कक्षाओं में बैठने की व्यवस्था इस तरह से की जानी चाहिए कि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे।

mp school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के स्कूल छात्रों के लिए बड़ी खबर है। लंबे समय बाद (MP Board) सिंतबर 2021 से कक्षा 1 से 8 के छात्रों के स्कूल फिर से खुलने जा रहे है। राज्य के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (inder singh parmar) ने कहा कि सितंबर के दूसरे सप्ताह में स्कूलों (school reopen) को फिर से खोला जा सकता है। शिक्षा मंत्री ने कहा कि कक्षा 1 से 8 सहित राज्य भर के स्कूल उचित कोरोना प्रोटोकॉल (corona protocol) के साथ फिर से खुलेंगे। राज्य सरकार ने मानक संचालन प्रक्रियाओं पर दिशा-निर्देश जारी किए जायेंगे, जिनका सभी स्कूल प्रशासनों को पालन करने की आवश्यकता है।

प्रदेश में MP Board 9वीं से 12वीं के स्कूल (MP School) खोलने के बाद 1 से 8वीं कक्षा के स्कूल खोलने की तैयारी शुरू हो गई। स्कूल शिक्षा विभाग (school education department) ने इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली है। वही स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार का कहना है कि मध्य प्रदेश में कोरोना के केस लगातार कम हो रहे हैं। जिसे देखते हुए सितंबर के दूसरे सप्ताह में 1 से 8वीं कक्षा की स्कूल संचालित की जा सकती है।

हालांकि इसके लिए छात्र छात्राओं को स्कूल पहुंचने की अलग से व्यवस्था की जाएगी। जबकि MP Board 6वीं से 8वीं तक के छात्र छात्राओं को स्कूल पहुंचाने की व्यवस्था पूरी तरह से अलग होगी। वही 50 फीसद क्षमता के साथ स्कूल की कक्षा लगाई जाएगी। वहीं छात्र छात्राओं की कक्षा सप्ताह में 1 से 2 दिन लगाई जाएगी।

Read More: MP News: आज से शुरू हुआ दूसरे चरण का वैक्सीनेशन महाअभियान, जबलपुर में रहेंगे CM Shivraj

छात्रों को शारीरिक या ऑफलाइन कक्षाओं में भाग लेने के लिए अपने माता-पिता से पूर्व सहमति पत्र प्रस्तुत करना होगा। राज्य के शिक्षा विभाग के अनुसार, यदि अधिक संख्या में छात्र ऑफ़लाइन कक्षाओं में भाग लेने के लिए सहमत होते हैं।तो एमपी के स्कूलों को 50 फीसद क्षमता के साथ दो दिन में कक्षाएं संचालित करनी होंगी।

कक्षाओं में बैठने की व्यवस्था इस तरह से की जानी चाहिए कि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे।परिसर के अंदर मास्क पहनना और हाथों को सेनेटाइज करना अनिवार्य है। सभी कक्षाओं को समय-समय पर नियमित रूप से सैनिटाइज किया जाना है।
इससे पहले, सरकार ने कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों को बिना वार्षिक परीक्षा के, असाइनमेंट के आधार पर पदोन्नत करने की घोषणा की है।

राज्य के शिक्षा विभाग ने 18 दिसंबर, 2020 से कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए स्कूलों को पहले ही फिर से खोल दिया था। अब, एमपी के स्कूल सितंबर के दूसरे सप्ताह से कक्षा 1 से 8 के छात्रों के लिए सख्त corona प्रोटोकॉल के साथ फिर से खोलने के लिए तैयार हैं।