MP Board: 10वीं-12वीं छात्रों के लिए जरूरी खबर, 20-21 जून को होगी पूरक परीक्षा, जानें नियम

। यदि कोई छात्र बिना परीक्षा आवेदन भरे परीक्षा में सम्मिलित होता है, तो उसकी परीक्षा निरस्त की जाएगी।

mp board mpbse

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।MP Board MPBSE. मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board of Secondary Education), भोपाल के छात्रों के लिए बड़ी खबर है।  10वीं की पूरक परीक्षा 21 से 30 जून तक और 12वीं की पूरक परीक्षा 20 जून (10th & 12th Compartment Exam 2022) से होगी। पूरक परीक्षा में प्रदेश के 10वीं व 12वीं के एक लाख 96 हजार 461 विद्यार्थी शामिल होंगे।सभी विषयों की पूरक परीक्षा सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे के मध्य निर्धारित परीक्षा केन्द्रों पर होगी।

यह भी पढ़े..MPPSC : उम्मीदवारों के लिए बड़ी खबर, असिस्टेंट प्रोफेसर की संशोधित पुनरीक्षित चयन सूची जारी

वर्ष 2022 की पूरक परीक्षा में किसी छात्र को बिना ऑनलाइन आवेदन भरे परीक्षा में सम्मिलित नही कराया जाएगा। यदि कोई छात्र बिना परीक्षा आवेदन भरे परीक्षा में सम्मिलित होता है, तो उसकी परीक्षा निरस्त की जाएगी। 5 जून 2022 तक पूरक परीक्षा में सम्मिलित होने वाले सभी परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र ऑनलाइन जारी किया जाएगा। छात्र अधिक जानकारी के लिए मध्यप्रदेश बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट mpbse.nic.in पर जाकर विजिट कर सकते हैं।

परीक्षा में असफल रहे छात्रों के लिए मप्र राज्य ओपन बोर्ड से “रूक जाना नहीं” योजना में केवल अनुत्तीर्ण विषयों की परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर है।इसके अलावा दोनों कक्षाओं के फेल विद्यार्थी जून में आयोजित होने वाली रुक जाना नहीं परीक्षा में भी शामिल हो सकते हैं। इसके तहत 10वीं की परीक्षा चार जून से और 12वीं की सात जून से होगी।

हायर सेकंडरी एग्जाम में केवल एक विषय और परीक्षा में दो विषयों में फेल पात्रों को ही पूरक की पात्रता प्रदान की गई है। हायर सेकंडरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम (द्वितीय अवसर) परीक्षा में ऐसे परीक्षार्थी परीक्षा शामिल होंगे, जो हायर सेकंडरी व्यावसायिक पाठ्यक्रम मुख्य परीक्षा 2022 में पूर्ण विषयों में सम्मिलित होकर परीक्षा में अनुत्तीर्ण अथवा अनुपस्थित रहे हों।

यह भी पढ़े लाखों कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, फिर DA में हुई बढ़ोतरी, एरियर का भी होगा भुगतान, जानें कितनी बढेगी सैलरी

बता दे कि कक्षा 12वीं में इस वर्ष 96 हजार 751 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता मिली है। पूरक परीक्षा 20 जून 2022 को ली जाएगी। कुल 1 लाख 19 हजार 851 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण घोषित किए गए है।इस वर्ष कक्षा 10वीं में 99 हजार 710 परीक्षार्थियों को पूरक की पात्रता मिली है। पूरक परीक्षा 21 जून से 30 जून 2022 तक आयोजित की जायेगी। कक्षा 10वीं में कुल 3 लाख 55 हजार 371 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण घोषित किए गए है। मंडल की हेल्प लाईन सेवा के माध्यम से परीक्षार्थी किसी भी प्रकार की अकादमिक और मनोवैज्ञानिक काउंसलिंग सेवा प्राप्त कर सकते है। इसके लिए टोल फ्री नंबर 18002330175 और 2570248, 2570258 पर सम्पर्क कर सकते है।

ये रहेंगे नियम

  • हायर सेकंडरी  और हाईस्कूल सर्टिफिकेट परीक्षा के ऐसे विषयों में जिनमें प्रायोगिक परीक्षा का प्रावधान है।सैद्धांतिक अथवा प्रायोगिक भाग जिनमें छात्र अनुत्तीर्ण रहे हैं, उस भाग में ही परीक्षा में सम्मिलित होना होगा।
  • यदि कोई छात्र केवल प्रैक्टिकल एग्जाम में फेल है, तो उसे सैद्धांतिक परीक्षा में सम्मिलित होने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • यदि कोई छात्र केवल सैद्धांतिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण है, तो उसे प्रैक्टिकल में सम्मिलित होने की आवश्यकता नहीं है।
  • पूरक उत्तीर्ण छात्रों व माइग्रेशन (हायर सेकंडरी) का प्रेषण समन्वयक संस्था के माध्यम से छात्रों की संबंधित शाला में किया जाएगा।
  • पूरक पात्र छात्रों की मार्कशीट पूरक परीक्षा के परिणाम आने के बाद ही जारी की जाएगी।

10वीं-12वीं के परिणामों पर एक नजर

  • इस बार कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम 59.54% और कक्षा 12वीं का परीक्षा परिणाम 72.72% रहा है।
  • कक्षा 12वीं की परीक्षा 17 फरवरी से 12 मार्च 2022 तक आयोजित की गई थी।परीक्षा में कुल 6 लाख 97 हजार 880 परीक्षार्थी शामिल थे।नियमित परीक्षार्थी 6 लाख 29 हजार 381 और स्वाध्यायी परीक्षार्थी 68 हजार 499 थे। 72.72 प्रतिशत नियमित परीक्षार्थी और 32.90 प्रतिशत स्वाध्यायी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं।
  • नियमित छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत 69.94 एवं नियमित छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 75.64 रहा है। शासकीय विद्यालयों का परीक्षाफल 70.92 प्रतिशत और अशासकीय विद्यालयों का परीक्षाफल 76.30 प्रतिशत रहा है।
  • कक्षा 10वीं की परीक्षा 18 फरवरी से 10 मार्च 2022 तक आयोजित की गई थी। परीक्षा में कुल 10 लाख 29 हजार 698 परीक्षार्थी शामिल हुए थे।नियमित परीक्षार्थी 9 लाख 31 हजार 860 और स्वाध्यायी परीक्षार्थी 97 हजार 838 थे। 59.54 प्रतिशत नियमित परीक्षार्थी उत्तीर्ण और 19.49 प्रतिशत स्वाध्यायी परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं।
  • नियमित छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत 56.84 और नियमित छात्राओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 62.47 रहा।शासकीय विद्यालयों का परीक्षाफल 55.40 प्रतिशत एवं अशासकीय विद्यालयों का 69.48 प्रतिशत रहा है।