MP Board: 10वीं-12वीं परीक्षा की तैयारी शुरू, नियम में होंगे ये महत्वपूर्ण बदलाव

इससे पहले माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board) द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया गया था।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में 10वीं-12वीं की परीक्षा (MP Board exam) की तैयारी शुरू कर दी गई है। वही माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) द्वारा परीक्षा पैटर्न (exam pattern) में भी बदलाव किए गए हैं। मध्यप्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य है, जिसने नई शिक्षा नीति (NEP) को मंजूरी दी है। 10वीं और 12वीं के परीक्षा परिणाम नई शिक्षा नीति की तर्ज पर आधारित होंगे।

दरअसल कोरोना (corona) की वजह से पिछली बार दसवीं बारहवीं की परीक्षा आयोजित नहीं की गई थी। जिसको देखते हुए अब मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MPBSE) द्वारा की परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी गई है। मार्च महीने में परीक्षा कराए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं ।इसके लिए परीक्षा केंद्रों की सूची मंगाई गई है। बताया जा रहा है कि हर जिले में 15 फीसद अधिक परीक्षा केंद्र बनाए जा सकते हैं।

इसके अलावा अनुमान लगाया जा रहा है कि बोर्ड परीक्षा के समय में भी कमी की जा सकती है। दरअसल इस बार तिमाही परीक्षा ढाई घंटे की ही ली गई थी। ऐसे में बोर्ड परीक्षा के समय में भी आधा घंटा काम करने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा इस बात से इनकार किया गया है।

Read More: MP News: शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, इस नियम में बदलाव, वंचितों को मिलेगा लाभ

मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव उमेश कुमार सिंह का कहना है कि 9वीं से 12वीं की तिमाही परीक्षा नए पैटर्न पर ली गई है तो समय 2:30 घंटे का रखा गया था लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि बोर्ड परीक्षा में भी ऐसा हो, अभी समझ में कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

इससे पहले माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board) द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया गया था। जहां मूल्यांकन 80 अंक सैद्धांतिक और 20 अंक प्रोजेक्ट के तौर पर किए जाएंगे। इसके अलावा 12वीं में प्रायोगिक विषयों में 70 अंक सैद्धांतिक और 30 अंक प्रायोगिक के तय किए गए हैं। वही 10वीं 12वीं के सभी विषयों के सैद्धांतिक प्रश्न पत्र में 40 प्रश्न ऑब्जेक्टि,व 40 प्रश्न विषय आधारित और 20% प्रश्न विश्लेषणात्मक रहेंगे।

Read More: MP कर्मचारियों के लिए राहत भरी खबर, उपचुनाव के बाद होगी DA वृद्धि की घोषणा!

सभी जिले से परीक्षा केंद्र के निर्धारण के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या की तैयारी शुरू कर दी गई है माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा परीक्षा केंद्रों के निर्धारण से पहले भौतिक सत्यापन किया जाएगा। शिक्षा विभाग द्वारा एक टीम नियुक्त की जाएगी। जो हर केंद्र पर जाकर कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए अन्य आवश्यक सुविधाएं जैसे इंटरनेट कंप्यूटर प्रिंटर सीसीटीवी कैमरा शौचालय आदि की जानकारी एकत्रित करेगी।