MP Board: 6वीं-12वीं तक खुलेंगे स्कूल, अभिभावकों की सहमति पत्र जरुरी, SOP का पालन अनिवार्य

6वीं से 8वीं कक्षा के छात्र छात्राएं करीब डेढ़ साल बाद अब स्कूल जाने के लिए तैयार हो रहे हैं।

mp board

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना (corona) की तीसरी लहर (third wave) के बीच प्रदेश के MP Board के सभी सरकारी (government) और निजी स्कूलों (schools) को खोलने के लिए राज्य सरकार (shivraj government)  ने हरी झंडी दे दी है। इस सबके बीच अभिभावक (parents) अभी पशोपेश में है कि वह अपने बच्चो को स्कूल भेजेंगे या नही। अभिभावकों का कहना है कि कोरोना को लेकर MP Board के स्कूल बच्चो की सुरक्षा गारंटी लेता है। तब हम सोचेंगे। वही जिला शिक्षा अधिकारी का कहना है कि कोरोना संक्रमण को लेकर SOP पालन के सभी स्कूलों को निर्देश दिए गए है।

6वीं से 12वीं तक खुलेंगे स्कूल

जबलपुर जिले में 1927 सरकारी स्कूल है जबकि 1085 प्राथमिक स्कूल, 646 माध्यमिक स्कूल , 196 हाई और हायर सेकेंडरी स्कूल है। जिसमे 1.27 लाख छात्र-छात्रा पढ़ाई कर है। कोरोना की बीच जब स्कूल खुलने लगे तो सभी स्कूलों ने अभिभावकों से सहमति पत्र मांगा है।

Read More: MP Weather: फिर सक्रिय हुआ मानसून, 17 जिलों और 7 संभागों में आज भारी बारिश के आसार

6वी से 12वी में 80 हजार छात्र

1 सितंबर से खुल रहे 6 से 12 तक कि क्लास में 80 हजार छात्र जबलपुर जिले में अध्ययनरत है। हाईस्कूल और हाई सेकेंडरी की कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं। 6वीं से 8वीं कक्षा के छात्र छात्राएं करीब डेढ़ साल बाद अब स्कूल जाने के लिए तैयार हो रहे हैं।

राज्य सरकार के निर्देश पर 6 से 12 तक कि क्लास 1 सितम्बर से शुरू होना है। सभी स्कूलों को एसओपी का पालन करना अनिवार्य है। साथ ही छात्रों के अभिभावकों से सहमति पत्र भी लिया जा रहा है। – घनश्याम सोनी, जिला शिक्षा अधिकारी, जबलपुर