MP Board: 12वीं के परीक्षा परिणाम को लेकर खड़ी हुई बड़ी समस्या, बच्चे परेशान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) द्वारा MP Board 10वीं और 12वीं के परीक्षा परिणाम (10th-12th result) घोषित कर दिए गए हैं। परीक्षा परिणाम घोषित करने से एक तरफ जहां छात्रों में उत्साह है। वहीं दूसरी तरफ रिजल्ट से असंतुष्ट छात्र दोबारा परीक्षा देने की तैयारी में है। इसी बीच MP Board 12वीं के छात्रों को एक बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

दरअसल 29 जुलाई को रिजल्ट घोषित होने के 1 सप्ताह बाद विद्यार्थियों को अंकसूची नहीं मिली है। MP Board विद्यार्थियों की शिकायत है कि पहले दिन रिजल्ट घोषणा के बाद उनकी अंकसूची माध्यमिक शिक्षा मंडल के वेबसाइट पर अपलोड थी लेकिन अब रिजल्ट नजर नहीं आ रहे। कई छात्रों ने अब तक अपने अंकसूची को डाउनलोड नहीं किया है।

हालांकि MP Board 12वीं के छात्रों द्वारा इसकी शिकायत माध्यमिक शिक्षा मंडल के हेल्पलाइन नंबर (helpline number) पर दर्ज कराई गई है। विद्यार्थियों कहना है की परीक्षा परिणाम घोषित होने वाले दिन उनकी अंकसूची जारी की गई थी लेकिन अगले दिन से उनके रोल नंबर को अवैध बताया जा रहा है। इस मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल और MP Board की तरफ से कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

एक तरफ जहां कई छात्र अपनी अंकसूची को लेकर असंतुष्ट हैं। वहीं दूसरी तरफ Corona काल में इस तरह जारी हुए परीक्षा परिणाम के गायब होने से छात्र शंका में है। छात्रों की शिकायत है कि MP Board 12वीं के परीक्षा परिणाम घोषित होने के दूसरे दिन जब रिजल्ट डाउनलोड (result download) करने पहुंचे तो दस्तावेज की कमी के कारण रिजल्ट को रोका हुआ बताया जा रहा है। कई छात्रों के रोल नंबर ही अवैध बताए जा रहे हैं।

Read More: MP News: किसानों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, सीधे खाते में आएगी अनुदान राशि

मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव उमेश सिंह (umesh singh) का कहना है कि कुछ तकनीकी (technical) समस्या आने के चलते छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। विद्यार्थी परेशान ना हो, जल्द समस्या को दूर कर लिया जाएगा। जिसके बाद उन्हें उनकी अंकसूची प्रदर्शित होने लगेगी।

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए प्रदेश में 12वीं की परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। वही एमपी बोर्ड 12वीं के परीक्षा परिणाम दसवीं के परीक्षा परिणाम के आधार पर तैयार किए गए थे। एक तरफ जहां दूसरे CBSE बोर्ड से उत्तीर्ण परीक्षार्थी के परीक्षा परिणाम को दस्तावेज सत्यापन नहीं होने की वजह से रोका गया है।

वहीं MP Board के कई छात्रों की अंकसूची फॉर्म फीस ना भरने के कारण रोक दी गई है। जिसके कारण मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (Board of Secondary Education) द्वारा 6000 से अधिक विद्यार्थियों को रिजल्ट (result) जारी नहीं किए गए हैं। वहीं इस मामले में MP Board का कहना है कि 10वीं की अंकसूची का सत्यापन पूर्ण होने के बाद विद्यार्थियों के परीक्षा परिणाम 7 अगस्त को घोषित किए जाएंगे।