MP में कोरोना विस्फोट, कुल 26 की रिपोर्ट पॉजिटिव, भोपाल में 2 IAS सहित 10 छात्र संक्रमित

साथ ही पुलिस मुख्यालय में पदस्थ एक महिला डीएसपी की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है। इन सभी को होम आइसोलेशन में डाला गया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में कोरोना के चौथे लहर (Corona fourth wave) से पहले अलर्ट जारी कर दिया गया है। PM Modi भी Corona के बढ़ते केस को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं। इसी बीच एक बार फिर से मध्यप्रदेश में कोरोना रिटर्न (MP Corona return) होते दिखाई दे रहा है। शनिवार को मध्य प्रदेश में कोरोना के 26 नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा Bhopal में कोरोना विस्फोट (Bhopal corona) देखने को मिला है। जिसमें 2 IAS अधिकारी सहित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के 10 छात्राएं संक्रमित पाए गए हैं। दरअसल 10 छात्राएं की कोविड जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिसके परिसर में हड़कंप की स्थिति मच गई है।

हालांकि इस मामले में कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि छात्राएं रैंडम टेस्ट में पॉजिटिव आई हैं। जिसके बाद इनका RT-PCR टेस्ट कराया जा रहा है उसके बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। इसके अलावा राजधानी भोपाल के चार इमली क्षेत्र के निवास दो सीनियर IAS दंपत्ति भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। राजधानी भोपाल के जनजातीय कार्य विभाग के आयुक्त संजीव सिंह के अलावा अटल बिहारी वाजपेई सुशासन एवं नीति संस्थान की CEO जीवी रश्मि की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। साथ ही पुलिस मुख्यालय में पदस्थ एक महिला डीएसपी की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई है। इन सभी को होम आइसोलेशन में डाला गया है।

Read More : पेंशनर्स के लिए राहत भरी खबर, सरकार ने शुरू की प्रक्रिया, पेंशन-PF सहित अन्य मामले में मिलेगा लाभ

इधर नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में रह रही कुछ छात्राओं में संक्रमण देखने को मिल रहा था। दरअसल 4-5 छात्राओं में सर्दी जुकाम और बुखार की शिकायत आ रही थी लेकिन कोई एहतियात नहीं बरतने के बाद धीरे-धीरे छात्राओं के बीमार पड़ने की संख्या बढ़ने लगी। जिसके बाद रविवार को उनका रेंडम कोरोना टेस्ट कराया गया। जिसमें छात्राएं संक्रमित पाई गई है।

हालांकि अभी इनका RT-PCR टेस्ट होना बाकी है वहीं छात्राओं की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद छात्रावास में हड़कंप की स्थिति मच गई है। बता दें कि इस छात्रावास में 300 से अधिक छात्राएं हैं। ऐसे में एक बार फिर से संक्रमण की रफ्तार तेज होने का खतरा बढ़ गया है। राहत की बात यह है कि मध्य प्रदेश में पिछले सप्ताह के आंकड़ों की बात करें तो कोरोना की स्थिति स्थिर नजर आ रही है। मरीजों की संख्या 30 से कम है। वहीं राजधानी में भी हर दिन 5 से कम संक्रमित देखने को मिल रहे हैं।

वहीं मध्यप्रदेश में संक्रमित सक्रिय मरीजों की बात करें तो फिलहाल इसका आंकड़ा 190 है। जिनमें से 7 मरीज निजी और सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं। वहीं केंद्र सरकार द्वारा सभी राज्य सरकारों को सावधान और सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। बीते दिनों पीएम मोदी ने कोरोना को लेकर लोगों को सतर्क और सावधान रहने के निर्देश दिए थे।