MP Corona : मप्र में बढ़े कोरोना केस, 10 दिन में मिले 104 पॉजिटिव, ये जिले सबसे संक्रमित

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना समीक्षा बैठक की थी। इस दौरान जिला कलेक्टरों को विशेष सावधानी बरतने की हिदायत दी गई थी।

mp corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में एक बार फिर से कोरोना केस (Corona cases) के बढ़ने का सिलसिला शुरू हो गया है। दरअसल प्रदेश में 10 दिनों के अंदर 104 कोरोना संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है जिसमें सबसे ज्यादा मामले जबलपुर (jabalpur) से सामने आए हैं। इसके अलावा मध्यप्रदेश में एक्टिव केसों (active cases) की संख्या में भी बढ़ोतरी देखी जा रही है। इसी बीच आज मध्य प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन महा अभियान (corona vaccination) की शुरुआत की जाएगी।

प्रदेश में corona के 7 नए मामले सामने आए हैं। जिसमें 4 मामले अकेले राजगढ़ जिले से हैं। इसके अलावा इंदौर से 2 मामले सामने आए। भोपाल में एक संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। प्रदेश में सबसे ज्यादा केस इस बार जबलपुर से सामने आ रहे हैं। वहीं एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 120 पहुंच गई है।

Read More: दिवाली से पहले कर्मचारियों को बड़ा तोहफा, DA में वृद्धि की घोषणा, अधिसूचना जारी

बता दें कि प्रदेश में बीते 10 दिनों में इंदौर में 19 और भोपाल में 18 नए मरीजों की पुष्टि हुई है वहीं जबलपुर में 39 मरीज सामने आए हैं राजगढ़ अनूपपुर ग्वालियर जिले में लगातार मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है वहीं बेतूल सिवनी सागर दतिया कटनी नरसिंहपुर रायसेन और उज्जैन में भी बढ़ते मामले चिंता का विषय बने हुए हैं। प्रदेश के छोटे जिले भी अब कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। जिसको लेकर बीते दिनों मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना समीक्षा बैठक की थी। इस दौरान जिला कलेक्टरों को विशेष सावधानी बरतने की हिदायत दी गई थी।

वही Corona मामले में बीते दिनों चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा था कि सरकार कोशिश है। तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए समुचित प्रयास किए जा रहे हैं। अस्पतालों का निरीक्षण किया जा रहा है। समुचित व्यवस्थाएं की गई है। सरकार कोशिश में है कि प्रदेश में तीसरे लहर की संभावना को विकसित ना होने दिया जाए। साथ ही उन्होंने सभी प्रदेश वासी से कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है।

ज्ञात हो कि प्रदेश में अब तक कोरोना के 7,92,364 मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें से 7,81,727 मरीज ठीक होकर वापस अपने घर लौटे। वहीं 10,570 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रदेश में रिकवरी रेट 98.65% है जबकि पॉजिटिविटी रेट 0.01 है।