MP Corona : छोटे जिलों में लगातार बढ़ रहे केस, 5 दिन 33 मामले, CM Shivraj की सख्त हिदायत

प्रदेश में रिकवरी रेट 98.66% है जबकि पॉजिटिविटी दर 0.01% रिकॉर्ड की गई है।

mp corona

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में बीते कुछ दिनों तक लगातार MP Corona मामले में बढ़ोतरी देखी जा रही थी। इसके बाद एक बार फिर से कोरोना केसों (corona cases) पर लगाम लग गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार कोरोना को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे हैं। इस दौरान अधिकारियों को दिए गए निर्देश का असर अब दिखने लगा है। मध्य प्रदेश में 6 नए मामले सामने आए हैं। हालांकि छोटे जिलों में बढ़ रहे संक्रमित मरीजों की संख्या अभी भी सरकार के लिए चिंता का विषय बनी हुई है।

दरअसल आज 2 महीने के बाद झाबुआ (jhabua) जिले में एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव (positive) आई है। वही विदिशा (vidisha) में एक परिवार के 3 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इसके अलावा जबलपुर और ग्वालियर में लगातार नए मरीज मिलने का सिलसिला जारी है। प्रदेश में 1 तरफ जहां बड़े जिले में संक्रमण की रफ्तार में कमी देखी जा रही है। वहीं छोटे जिले लगातार संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। विदिशा में एक ही परिवार के तीन लोगों के रिपोर्ट आई है। बताया जा रहा है कि 28 वर्षीय युवक पुणे से वापस लौटा था। जिसके संपर्क में आने के बाद माता-पिता भी संक्रमित हो गए हैं।

Read More: MP के कर्मचारियों को दिवाली से पहले मिलेगा तोहफा! DA बढ़ोतरी से Salary में होगा बंपर उछाल

इसके अलावा झाबुआ से भी एक 27 वर्षीय महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। महिला भी गुजरात से यात्रा कर वापस लौटी है। सर्दी खांसी के लक्षण देखने के बाद महिला ने अपनी जांच करवाई। जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

हालांकि राहत की बात है कि मध्य प्रदेश में आज 18 मरीज स्वस्थ अपने घर वापस लौटे हैं। जिसके बाद प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 110 से घटकर 98 पहुंच गई है। वहीं प्रदेश में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या मे बढ़कर 7लाख 81 हजार 761 पहुंच गई है। प्रदेश में रिकवरी रेट 98.66% है जबकि पॉजिटिविटी दर 0.01% रिकॉर्ड की गई है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan) ने कहा कि अगर एमपी (MP) में कोरोना केस बढ़ते हैं तो प्रदेश में लॉकडाउन (ockdown) और कर्फ्यू (curfew) जैसे माहौल पनपेंगे। जिसका सामना करने के लिए मध्यप्रदेश (MP) तैयार नहीं है। इससे आर्थिक संकट पर उन्होंने लोगों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करने सहित वैक्सीनेशन अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की है।