खिलाड़ियों को बड़ा तोहफा देगी शिवराज सरकार, मिलेंगे 5.89 करोड़ रुपए, CM Shivraj करेंगे सम्मान

खेल मंत्री यशोधरा राजे Scindia ने बताया कि CM Shivraj खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित और सम्मानित करने में तत्पर रहते हैं।

MP CORONA

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo olympic 2020) में शानदार प्रदर्शन करने के साथ ही चौथे स्थान पर रही भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian women’s hockey team) को मध्य प्रदेश (MP) की शिवराज सरकार (shivraj government) को बड़ा तोहफा देगी। दरअसल 28 सितंबर को CM Shivraj टोक्यो ओलंपिक में शामिल भारतीय महिला हॉकी टीम का सम्मान करेगी। इस दौरान प्रत्येक खिलाड़ी को 31-31 लाख रुपए दिए जाएंगे।

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhara Raje Scindia) अभी हॉकी फेडरेशन के पदाधिकारियों के साथ कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे। साथ ही कुल 19 खिलाड़ियों को सरकार 5 करोड़ 89 लाख रुपए देगी। CM Shivraj अपने वादे के मुताबिक 28 सितंबर को टोक्यो ओलंपिक 2020 की भारतीय महिला हॉकी टीम के खिलाड़ियों को सम्मानित करते हुए प्रत्येक खिलाड़ी को 31 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान करेंगे।

खेल मंत्री यशोधरा राजे Scindia ने बताया कि CM Shivraj खेल और खिलाड़ियों को प्रोत्साहित और सम्मानित करने में तत्पर रहते हैं। टोक्यो ओलंपिक 2020 में महिला हॉकी टीम के शानदार ऐतिहासिक प्रदर्शन ने देश और दुनिया का दिल जीत लिया था। खिलाड़ियों के प्रदर्शन से हमेशा की तरह मुख्यमंत्री चौहान भी प्रभावित हुए। जब भारतीय महिला हॉकी टीम टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन के बावजूद चौथे स्थान पर रही तभी CM चौहान ने इन बेटियों को सम्मानित करने की घोषणा कर दी थी।

Read More: MP College : प्रवेश को लेकर विभाग का बड़ा फैसला, UG कोर्स के लिए काउंसलिंग लिस्ट जारी

खेल मंत्री Scindia ने बताया कि प्रदेश के लिए यह हमेशा ही गौरव की बात रही है कि 2016 के रियो ओलंपिक में ही मध्य प्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी ग्वालियर में प्रशिक्षण प्राप्त सात खिलाड़ियों ने भारतीय हॉकी टीम में अपनी छाप विश्व मंच पर छोड़ी थी। 2020 के टोक्यो ओलंपिक में भी मध्य प्रदेश राज्य महिला हॉकी अकादमी से प्रशिक्षित पांच खिलाड़ियों ने देश का प्रतिनिधित्व किया। इसमें सुशीला चानू, रीना खोखर, मोनिका, रजनी और वंदना कटारिया शामिल है।

सिंधिया ने बताया कि प्रदेश में हॉकी को पुनर्जीवित करने के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने वर्ष 2006 में ग्वालियर में राज्य महिला हॉकी अकादमी की स्थापना की थी। यहाँ देश के चुनिंदा खिलाड़ियों को प्रशिक्षण दिया जाता है। विश्व स्तरीय सर्व-सुविधायुक्त इस आधुनिक अकादमी ने कई खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय मंच दिया है।

भारतीय महिला हॉकी टीम के सदस्य

सुश्री रानी रामपाल (कप्तान), सविता पूनिया, दीप ग्रेस एक्का, निशा, गुरजीत कौर, सलीमा टेटे, उदिता, मोनिका, निक्की प्रधान, नेहा, पी सुशीला चानू, वंदना कटारिया, नवनीत कौर, नवजोत कौर, शर्मिला देवी, लालरेमसियामी, ई.रजनी, रीना खोकर और नमिता टोप्पो भारतीय महिला हॉकी टीम के सदस्य है।

भारतीय टीम का प्रदर्शन

भारतीय महिला हॉकी टीम ने पहली बार ओलंपिक के सेमीफाइनल तक का सफर तय कर ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की। कांस्य पदक के मुकाबले में भारतीय टीम को बेहद करीबी अंतर से इंग्लैंड से 3- 4 से हार का सामना करना पड़ा था। इससे पहले भारत ने क्वार्टर फाइनल में ओलंपिक और विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था। इस मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से पराजित किया था। लीग मुकाबलों में भारतीय महिला हॉकी टीम का प्रदर्शन सराहनीय रहा था।

खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया की अध्यक्षता में मंगलवार को दोपहर 12 बजे मिंटो हॉल में आयोजित इस कार्यक्रम में हॉकी फेडरेशन ऑफ इंडिया और इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा विशिष्ट अतिथि होंगे। इसके अलावा हॉकी इंडिया के अध्यक्ष श्री ज्ञानेंद्रओ निगोमबम, हॉकी इंडिया की सीईओ एलीना नार्मन, सचिव राजेंद्र सिंह और महिला हॉकी टीम के प्रशिक्षक श्री तुषार खांडेकर भी विशेष रूप से उपस्थित होंगे।