MP News : ग्वालियर में बनेगा ड्रोन एक्सीलेंस सेंटर, प्रदेश में खुलेंगे 5 ड्रोन स्कूल

प्रदेश के पहले ड्रोन मेले में करीब 20 कंपनियों ने भाग लिया। यहां एक साथ 40 ड्रोन भी उडा़ए गए।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर (Gwalior News) के माधव इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (MITS) में शनिवार को प्रदेश ड्रोन मेले का आयोजन किया गया।  मेले में शामिल मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने ड्रोन तकनीक (Drone Technology) को आधुनिक युग का वरदान बताते हुए उम्मीद जताई है कि इनका उपयोग क्रांतिकारी सिद्ध होगा। कार्यक्रम में विशेष रूप से मौजूद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने घोषणा की कि ग्वालियर के MITS कॉलेज में ड्रोन एक्सीलेंसी सेंटर बनाया जाएगा इसके लिए एक ड्रोन कंपनी से एमओयू भी साइन किया गया है। इसके साथ ही ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, भोपाल और सतना में ड्रोन तकनीक औऱ प्रयोग की शिक्षा व प्रशिक्षण देने वाले विद्यालय भी खोले जाएंगे। प्रदेश के पहले ड्रोन मेले में करीब 20 कंपनियों ने भाग लिया। यहां एक साथ 40 ड्रोन भी उडा़ए गए।

MP News : ग्वालियर में बनेगा ड्रोन एक्सीलेंस सेंटर, प्रदेश में खुलेंगे 5 ड्रोन स्कूल

ग्वालियर के MITS कॉलेज में आयोजित ड्रोन मेले को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ड्रोन का इस्तेमाल विकास कार्यों सहित योजना बनाने और आपदा प्रबंधन में लाभकारी होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा दौर में खेतों में उर्वरक तथा दवाओं का छिड़काव हो या दूरस्थ क्षेत्र में दवाएं पहुंचानी हों उसमें ड्रोन तकनीक एक उन्नत विकल्प के रूप में सामने आई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ड्रोन तकनीक कृषि क्षेत्र में किसानों के लिए वरदान सिद्ध हो सकती है। भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त और पुलिस सर्विलांस में भी यह तकनीक बहुत उपयोगी है।

ये भी पढ़ें – MP के स्कूल मे पढ़ें शहीद को बेटे और बेटी ने ऐसे दी “अंतिम विदाई”

सीएम शिवराज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा है कि इस तकनीक का विकास कार्यों, योजनाएं बनाने और आपदा प्रबंधन में अधिकाधिक प्रयोग हो, इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रधानमंत्री की इस मंशा को पूरा करने के लिए दिन रात जुटे हुए हैं।

ये भी पढ़ें – CBSE Class 10 Term-1 Exam 2021: अंग्रेजी विषय की Answer key जारी, छात्रों के लिए आई नई अपडेट

कार्यक्रम में विशेष रूप से मौजूद नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उम्मीद जताई कि उनके मंत्रालय की PLI योजना से भारत में ड्रोन क्रांति का सूत्रपात होगा और प्रधानमंत्री मोदी का विश्व में अग्रणी भूमिका निभाने का स्वप्न पूरा होगा। सिंधिया ने घोषणा की कि MITS में ड्रोन एक्सीलेंसी सेंटर स्थापित किया जाएगा इसके लिए एक ड्रोन कंपनी से एमओयू भी साइन किया गया है। इसके साथ ही ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, भोपाल और सतना में ड्रोन तकनीक औऱ प्रयोग की शिक्षा व प्रशिक्षण देने वाले विद्यालय भी खोले जाएंगे।

ये भी पढ़ें – टीकमगढ़ : आयुर्वेदिक अस्पताल चढ़े लापरवाह सिस्टम की भेंट, जानें कैसे

इस मौके पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभु राम चौधरी और सांसद विवेक नारायण शेजवलकर सहित कई अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।