MP Panchayat Election: नवंबर में होंगे पंचायत के चुनाव! आरक्षण के बाद होगी औपचारिक घोषणा

राज्य निर्वाचन आयोग का यह मानना है कि 31 दिसंबर तक हर हाल में चुनाव प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाए

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पंचायत के त्रिस्तरीय चुनाव (MP Panchayat Election) नवंबर व दिसंबर माह में होंगे। सूत्रों के हवाले मिली जानकारी के अनुसार राज्य निर्वाचन आयोग (state election commission)  ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। सरकार से कहा गया है कि जल्द जिला पंचायतों के आरक्षण (reservation) की प्रक्रिया को पूर्ण किया जाए।

वही पंचायत चुनाव की तैयारियों को लेकर आज राज्य निर्वाचन आयुक्त ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के कलेक्टरों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने कलेक्टरों को बड़े निर्देश दिए हैं। पंचायत चुनाव 3 चरणों में हो सकते है।राज्य निर्वाचन आयुक्त बीपी सिंह ने कलेक्टर को दिये निर्देश। पंचायत चुनाव की सभी तैयारियां समय सीमा में पूरी करें।

सभी मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन कर लें। जहां भी किसी भी प्रकार की समस्या हो उन्हें ठीक करें। संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों की सूची तुरंत भेजें। मार्च 22 तक रिक्त होने वाली पंचायतों के संबंध में जानकारी तुरंत भेजें। प्रदेश की सभी जिला पंचायत, जनपद पंचायत एवं ग्राम पंचायतों का चुनाव करवाया जाएगा। कलेक्टरो द्वारा बताई गई समस्याओं का भी समाधान किया।

Read More: JNV Admission: कक्षा 6वीं में प्रवेश के लिए बड़ी खबर, 30 नवंबर तक होंगे आवेदन

लंबे समय से टल रहे मध्य प्रदेश के पंचायती राज व्यवस्था के त्रिस्तरीय चुनाव नवंबर माह में शुरू होंगे और संभवत तीन से चार चरणों मे दिसंबर माह तक चलेंगे। इन चुनावों की औपचारिक घोषणा नवंबर माह में किसी भी दिन की जा सकती है। दरअसल इस चुनावी प्रक्रिया में सबसे बड़ी बाधा अब केवल जिला पंचायत की आरक्षण प्रक्रिया है जिसे पूरा करने के लिए निर्वाचन आयोग ने एक बार फिर राज्य सरकार से पत्राचार किया है।

राज्य निर्वाचन आयोग का यह मानना है कि 31 दिसंबर तक हर हाल में चुनाव प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाए क्योंकि यदि 31 दिसंबर तक यह प्रक्रिया पूरी नहीं हुई तो फिर एक बार फिर एक जनवरी के बाद नई मतदाता सूची बनानी पड़ेगी और चुनाव लंबी खिंच जाएंगे।