MP News : 3 लाख से अधिक किसानों के लिए राहत भरी खबर, खाते में भेजे गए 1641 करोड़ रुपए

इसमें 3 लाख 22 हजार 835 किसानों को 754 करोड़ रूपये की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया गया था।

किसानों

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के किसानों (MP Farmers) के लिए अच्छी खबर है। दरअसल सरसों और गेहूं की खरीदी समर्थन मूल्य (support price) पर की जा रही है। साथ ही उसका उन्हें जल्द से जल्द भुगतान भी किया जा रहा है। अब तक 3 लाख 77 हजार रुपए किसानों के खाते में 1641 करोड़ रुपए का ऑनलाइन भुगतान (Online payment) किया गया है।

प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण फैज अहमद किदवई ने बताया कि प्रदेश में बुधवार तक 31 लाख 46 हजार 96 मीट्रिक टन गेहूँ का उपार्जन किया गया। अब तक 3 लाख 77 हजार 278 किसानों को 1641 करोड़ 7 लाख रूपये उनके खातों में ऑनलाइन अंतरित किये गये है। उन्होंने बताया कि भुगतान में पारदर्शिता के लिये पी.एफ.एम.एस. (पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम) पोर्टल के माध्यम से राशि किसानों के खातों में जमा की जा रही है।

Read More : ONGC Recruitment 2022: 3600 से अधिक पद पर वैकेंसी, 15 मई तक करें आवेदन, जाने पात्रता और नियम

प्रमुख सचिव किदवई ने बताया कि 27 अप्रैल को एक दिन में 2 लाख 28 हजार 825 मीट्रिक टन गेहूँ का उपार्जन किया गया। इसमें 29 हजार 681 किसानों को 543 करोड़ 7 लाख रूपये की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया गया। इससे पहले 26 अप्रैल को एक दिन में 3 लाख 41 हजार मी. टन गेहूँ का उपार्जन किया गया। इसमें 3 लाख 22 हजार 835 किसानों को 754 करोड़ रूपये की राशि का ऑनलाइन भुगतान किया गया था।

सीएम शिवराज की अध्यक्षता में किसानों को लेकर लगातार बैठक जारी है। इससे पहले सीएम शिवराज ने निर्देश दिए हैं कि चना, सरसों, मसूर और गेहूं की खरीदी समर्थन मूल्य पर करने वाले किसानों को 1 सप्ताह के अंदर उनके खाते में भुगतान किया जाए। इससे पहले जानकारी देते हुए कमल पटेल ने बताया कि किसानों से चने की फसल की खरीद 31 मई तक होगी

इसके लिए 30 अप्रैल तक पंजीयन करने के बाद किसानों के पास मैसेज पहुंचेंगे। कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि मंडी के अंदर वेयरहाउस किराए पर लिया जाएगा और किसानों को उनकी फसल का नाम सही से नहीं मिल रहा है या किसान समर्थन मूल्य नहीं भेजना है तो किसान मंडी के इन वेयरहाउस में अपनी फसल रख सकता है।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने आज नई दिल्ली में भारत सरकार के “किसान भागीदारी-प्राथमिकता हमारी” अभियान में “फसल बीमा पाठशाला” का शुभारंभ किया। केन्द्रीय कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में सवा दस करोड़ से ज्यादा किसानों को 1.15 लाख करोड़ रूपये का भुगतान हुआ है। केन्द्रीय मंत्री तोमर ने विभिन्न राज्यों के किसानों से संवाद किया। मध्यप्रदेश के किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल मंत्रालय से वर्चुअली शामिल हुए।

केन्द्रीय कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में खरीफ-2016 से खरीफ-2021 तक प्रतिवर्ष औसतन साढ़े 5 करोड़ किसानों ने बीमा योजना का लाभ लेने के लिये आवेदन किये। अब तक योजना में किसानों द्वारा जमा किये गये 21 हजार करोड़ रूपये के प्रीमियम भुगतान के बदले में 1.15 लाख करोड़ रूपये से अधिक की राशि के बीमा दावों का भुगतान किया जा चुका है। नरेंद्र तोमर ने फसल बीमा पाठशाला में योजना के लाभार्थी किसानों से कृषि दूत बनकर अन्य किसानों को प्रेरित करने का आव्हान किया।