MP School : 1 से 8वीं तक के छात्रों को मिलेगा लाभ, खाते में भेजी जाएगी राशि, प्रस्ताव तैयार

दरअसल स्कूल शिक्षा केंद्र द्वारा हर साल 390 करोड रुपए खर्च किए जाते हैं।

mp school

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के स्कूल (MP School) के छात्रों के लिए महत्वपूर्ण सूचना है। दरअसल सीएम राइज स्कूल (CM Rise School) के छात्रों को अब गणवेश के लिए नगद राशि उपलब्ध कराई जाएगी। स्कूल ड्रेस वितरण के लिए राज्य शिक्षा केंद्र (state education center) ने प्रस्ताव तैयार कर लिए हैं। सीएम राइज स्कूल में पहली से आठवीं तक के छात्रों के खाते में 2 जोड़ी कपड़े के लिए 600 रूपए की राशि भेजी जाएगी।

वही 5वी से 8वीं तक के छात्रों के बैंक खाते में यह रकम अंतरित की जाएगी। जबकि शासकीय स्कूल में अन्य कक्षाओं के लिए संस्था समूह के माध्यम से गणवेश तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। हालाकि एक तरफ जहां सीएम राइज स्कूल में बच्चों को गणवेश के लिए राशि दिए जाने की योजना तैयार कर ली गई है। वहीं सामान्य स्कूलों के बच्चों को लेकर अभी किसी भी तरह का निर्णय नहीं हो पाया है।

66 लाख छात्र 3 महीने से गणवेश की प्रतीक्षा कर रहे हैं। पिछले साल भी स्व सहायता समूह द्वारा बनाए गए गणवेश की गुणवत्ता खराब हो गई थी। जिसके कारण अब तक निर्णय नहीं हो पाया है कि बच्चे को स्कूल ड्रेस उपलब्ध कराई जाएगी या फिर उनके खाते में राशि भेजी जाएगी।

Read More : Indore : रोजगार दिवस पर CM ने स्वरोजगार ऋण बांटे, हितग्राहियों से पूछा ये सवाल

दरअसल स्कूल शिक्षा केंद्र द्वारा हर साल 390 करोड रुपए बच्चों के गणवेश में खर्च किए जाते हैं। वहीं पिछले साल की गुणवत्ता ही ड्रेस की वजह से यह मामला अधर में अटक गया है। पहली से आठवीं तक के छात्रों को निशुल्क 2 जोड़ी गणवेश उपलब्ध कराने के लिए खाते में राशि का अंतरण किया जाता है। सीएम शिवराज के निर्देश के बाद गणवेश का काम पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत आजीविका मिशन द्वारा संभाला गया।

आजीविका मिशन के माध्यम से स्व सहायता समूह को यह काम सौंपा गया है। जिससे हजारों महिलाओं को एक तरफ जहां रोजगार मिला है। वहीं महिलाओं द्वारा तैयार की गई। गणवेश की गुणवत्ता बेहद ही खराब है। स्व सहायता समूह के माध्यम से गणवेश सिलवाने का कार्य किया जाएगा लेकिन पिछली खामियों को देखते हुए माना जा रहा है कि उन्हें सशर्त यह काम सौंपा जाएगा। वही गणवेश की गुणवत्ता देखने के बाद ही पूरी राशि का भुगतान किया जाएगा।