MP: 3 दिन बाद फिर बदलेगा मौसम, इन जिलों में बूंदाबांदी के आसार, लू का अलर्ट, मानसून पर बड़ी अपडेट

15 से 16 मई के बीच जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है, जिसके असर से मौसम में बदलाव होगा और 19 मई तक राहत रहेगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। MP Weather Update Today 13 May 2022. 16 मई से मध्य प्रदेश का मौसम फिर बदलने वाला है। नए पश्चिमी विक्षोभ के असर से आंशिक रूप से बादल छा सकते हैं। कहीं-कहीं बूंदाबादी होने की भी संभावना है।   एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज शुक्रवार 13 मई को 29 जिलों में लू का येलो अलर्ट जारी किया है। वही 3 जिलों में गरज चमक के साथ बूंदाबांदी की संभावना जताई है।16 मई को ईरान व अफगानिस्तान में एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा और इसके असार से हवाएं की दिशा भी बदलेगी।

यह भी पढ़े.. हजारों पेंशनरों के लिए बड़ी अपडेट, जल्द पूरा करें ये काम, वरना रुक सकती है जून-जुलाई की पेंशन

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Update) के अनुसार, पिछले 24 घंटे में राजगढ़ और खरगोन में 46 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। एक तरफ जहां दतिया, गुना, उज्जैन, धार, शाजापुर, राजगढ़, खरगोन, खंडवा और रतलाम में लू का असर रहा।वही दूसरी तरफ मंडला और बालाघाट में हल्की बारिश हुई।आज शुक्रवार को भोपाल, रायसेन, अशोकनगर, उज्जैन, रीवा, पन्ना, सतना, सीधी, शिवपुरी, दतिया, गुना, ग्वालियर, सागर, निवाड़ी, टीकमगढ़, शाजापुर, दमोह, छतरपुर, आगर, रतलाम, राजगढ़, खंडवा, खरगोन, बड़वानी, नीमच, मंदसौर, श्योपुर, भिंड और मुरैना में लू का येलो अलर्ट जारी किया गया है।

एमपी मौसम विभाग (MP Weather Alert) के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में आए असानी तूफान आंध्र प्रदेश तट से टकराने के बाद कम दबाव के क्षेत्र में बदल गया है और बंगाली की खाड़ी से मध्य प्रदेश तक एक ट्रफ लाइन बनी हुई है और नमी आ रही है।आज ग्वालियर में हल्के बादल छाएंगे।15 से 16 मई के बीच जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ आ रहा है, जिसके असर से मौसम में बदलाव होगा और 19 मई तक राहत रहेगी। 28 मई के बाद प्री मानसून की गतिविधियां बढ़ने लगेंगी।जबलपुर सहित संभाग के जिलों में आने वाले दिनों में कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, फिर बढ़ेगी 15000 से 27000 तक सैलरी, जानें कैसे?

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसारस अंडमान निकोबार दीप समूह में 15 मई को मानसून की पहली बारिश की संभावना है। यदि ऐसा हुआ तो समय से पहले 26 मई तक मानसून केरल के तट पर पहुंच जाएगा। वही मध्य प्रदेश में मानसून की तारीख 1 जून से 30 सितंबर तक होती है। अलग-अलग जिलों में अलग-अलग तारीखों पर मानसून पहुंचता है लेकिन 15 जून को मध्य प्रदेश में मानसून का प्रवेश माना जाता है। इसी दिन मानसून की पहली बारिश होती है। इस साल केरल के तट पर 4-5 दिन पहले मानसून के पहुंचने की संभावना है अतः मध्यप्रदेश में भी 4-5 दिन पहले मानसून आ सकता है। यानी मानसून की पहली बारिश 10 जून को हो सकती है।

 

MP: 3 दिन बाद फिर बदलेगा मौसम, इन जिलों में बूंदाबांदी के आसार, लू का अलर्ट, मानसून पर बड़ी अपडेट