PEB परीक्षा निरस्त मामला, Kamalnath ने बताया व्यापम पार्ट 2, CBI जांच की मांग

अब साइबर सेल इस पूरे मामले की जांच करेगी और हर परिणाम की स्कूटनी होगी।

MP Politics

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (PEB) की तीन परीक्षाओं के निरस्त होने के मामले पर अब राजनीति (Politics) शुरू हो गई है। थोड़ी देर पहले प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं गृह व जेल मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा (narotta mishra) ने इन परीक्षाओं (PEB exam) को निरस्त करने की घोषणा की थी। अब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ (kamalnath) ने इसे बेहद गंभीर मामला बताते हुए CBI जांच की मांग की है।

नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने ट्वीट करके प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (PEB) की वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एवं नर्सिंग परीक्षा को निरस्त करने पर लिखा है कि इन परीक्षाओं को लेकर शुरू दिन से ही निरंतर फर्जीवाड़े की शिकायतें सामने आ रही थी। Kamalnath ने लिखा कि खुद अभ्यर्थी इस को लेकर निरंतर शिकायतें कर रहे थे। यह प्रदेश का व्यापम पार्ट टू (vyapam part 2) है।

Read More: Transfer: मध्यप्रदेश में फिर हुए अधिकारियों के तबादले, यहां देखे लिस्ट

उन्होंने मांग की है कि सरकार इस पूरे फर्जीवाड़े को तत्काल सीबीआई को सौंपे। सीबीआई इस पूरे मामले की जांच करें क्योंकि इन परीक्षाओं से हजारों अभ्यर्थियों का भविष जुड़ा हुआ था और बड़े पैमाने पर इन परीक्षाओं को लेकर फर्जीवाड़ा सामने आया है। उल्लेखनीय है कि अब से कुछ देर पहले प्रदेश सरकार के प्रवक्ता डॉ नरोत्तम मिश्रा ने यह जानकारी दी थी कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड की वरिष्ठ कृषि विस्तार अधिकारी, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी एवं नर्सिंग परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है।

नरोत्तम के अनुसार 2020 और 21 के बीच 10 परीक्षाओं की जांच में इन तीन परीक्षाये संदिग्ध पाई गई थी। जिसके बाद एक एसईडीसी यानी टेक्निकल कमेटी का गठन किया गया था और जिसमें यह पाया गया था कि पेपर हैक करके लीक किये गए थे। NSIT नामक संस्था जो इन परीक्षाओं को लेती है वह रेलवे भर्ती की परीक्षा का भी काम करती है प्रारंभिक तौर पर उसकी गलती सामने आई है। अब साइबर सेल इस पूरे मामले की जांच करेगी और हर परिणाम की स्कूटनी होगी।