Politics: राज्य में मिले सत्ता उलटफेर के संकेत! CM के OSD ने पद से दिया इस्तीफा

मुख्यमंत्री (cm) के OSD ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

जयपुर, डेस्क रिपोर्ट। पंजाब (punjab) में हुई सियासी उलटफेर के बाद अब राजस्थान (rajasthan) में इसका असर दिखने लगा है पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह (captain amrinder singh) के के सीएम पद से इस्तीफे (resign) के तुरंत बाद ही राजस्थान मुख्यमंत्री (rajasthan cm) के OSD लोकेश शर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के OSD लोकेश शर्मा ने इससे 7 घंटे पहले एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने राजस्थान में भी सत्ता परिवर्तन को लेकर शंका जाहिर की थी। इस दौरान ट्वीट करते हुए उन्होंने मजबूत को मजबूर.. मामूली को मगरूर किया जाए, बाड़ ही खेत को खाए..उस फसल को कौन बचाए..जैसे ट्वीट किए थे। वही इस ट्वीट के बाद से राजस्थान में भी सियासी सुगबुगाहट तेज हो गई थी।

बता दें कि कांग्रेस के लिए कई राज्य में स्थिति अच्छी नहीं चल रही है। उनके अंदर मतभेद की खबरें लगातार सामने आ रही है। इस बीच पंजाब में अमरिंदर सिंह (captain amrinder singh) के इस्तीफे देने के बाद राजस्थान में सियासी भूचाल तेज है। लोगों का कहना है कि पंजाब के बाद कांग्रेस शासित राजस्थान की बारी है। वहीँ सियासी पंडितों का भी मानना है कि पंजाब के बाद कांग्रेस आलाकमान छत्तीसगढ़ और रायपुर को लेकर कोई बड़े फैसले ले सकता है। हालांकि यह सब अभी संभावनाएं हैं और स्पष्ट तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता।

Read More: IPL 2021 : फिर सामने होंगे धोनी-रोहित, MI-CSK की भिड़ंत में दांव पर लगेगी साख, क्या कहते हैं आंकड़े

कांग्रेस शासित राजस्थान में सीएम अशोक गहलोत और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के नेतृत्व वाले गुटों के साथ 2018 के विधानसभा चुनावों के परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद शुरू हुए राजनीतिक खींचतान शुरू हो गई थी। बता दें कि पायलट और 18 अन्य विधायकों ने पिछले साल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व के खिलाफ बगावत कर दी थी। एक महीने के लंबे संकट के बाद, कांग्रेस आलाकमान ने उनके द्वारा उठाए गए मुद्दों को देखने के लिए एक समिति का गठन किया था।

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने इससे पहले कहा था कि भविष्य में कौन-क्या-क्या भूमिका निभाएगा, इस पर पार्टी नेतृत्व फैसला करेगा। उन्होंने कहा कि वह अपने द्वारा उठाए गए पार्टी के मुद्दों पर कांग्रेस आलाकमान के संपर्क में हैं और उम्मीद है कि शीर्ष नेतृत्व द्वारा आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा था कि वह उन खबरों पर अटकलें नहीं लगाना चाहते कि राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री किसे बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कौन क्या बनता है, कौन क्या पद संभालता है, कौन मंत्री है, कौन पार्टी अध्यक्ष या मुख्यमंत्री है, यह निर्णय दिल्ली में पार्टी नेतृत्व द्वारा लिया जाता है।