President Election 2022 : द्रौपदी मुर्मू ने दाखिल किया नॉमिनेशन, सोनिया गांधी- ममता सहित पवार से मांगा समर्थन, पीएम मोदी बने पहले प्रस्तावक

वही द्रौपदी मुर्मू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित ममता बनर्जी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी समर्थन की मांग की है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। NDA की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने आखिरकार संसद भवन में अपना नामांकन दाखिल कर दिया। द्रौपदी मुर्मू के नॉमिनेशन फाइल (draupadi murmu nomination file) करने के बाद पीएम मोदी (PM Modi)उनके पहले प्रस्तावक बने। वहीं इस मौके पर संसद भवन में पीएम मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) भी मौजूद थे। इसके अलावा कई राज्यों के मुख्यमंत्री वहां पहुंचे थे। जिसमें योगी आदित्यनाथ, पुष्कर धामी, शिवराज सिंह चौहान सहित कई बड़े दिग्गजों ने उन्हें शुभकामनाएं दी। नॉमिनेशन फाइल करने के साथ ही द्रौपदी मुर्मू ने विपक्ष के नेताओं से भी समर्थन की मांग की है।

वही द्रौपदी मुर्मू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित ममता बनर्जी और एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी समर्थन की मांग की है। राजग की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राकांपा के शरद पवार और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत कुछ प्रमुख विपक्षी नेताओं को फोन किया और उनकी उम्मीदवारी के लिए उनका समर्थन मांगा। सूत्रों ने कहा कि उन्होंने 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने से पहले उन्हें व्यक्तिगत रूप से फोन किया और उनसे बात की। वहीँ तीनों नेताओं ने उन्हें शुभकामनाएं दीं।

Read More : Maharashtra Political Crisis : तेज हुई आर-पार की लड़ाई, एकनाथ शिंदे मुंबई रवाना, संजय राउत का बयान- उद्धव सरकार पूरा करेगी अपना टर्म

मुर्मू ने शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना नामांकन पत्र रिटर्निंग ऑफिसर पीसी मोदी को सौंपा। उनके साथ अमित शाह, राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित कई केंद्रीय मंत्री थे। उनके नामांकन दाखिल करने के दौरान योगी आदित्यनाथ, शिवराज सिंह चौहान, मनोहर लाल खट्टर, जयराम ठाकुर, पुष्कर सिंह धामी और कुछ एनडीए समर्थक दलों जैसे वाईएसआरसीपी, बीजद और अन्नाद्रमुक सहित भाजपा शासित राज्यों के कई मुख्यमंत्री भी मौजूद थे।

इसी बीच झारखंड मुक्ति मोर्चा ने भी राष्ट्रपति उम्मीदवार को समर्थन के लिए कल पार्टी विधायक और सांसद की बैठक बुला ली है। एक तरफ जहां विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए यशवंत सिन्हा को नामांकित किया गया है। वहीं यशवंत सिन्हा 27 जून को नामांकन दाखिल करेंगे।