Rajgarh News: अवैध शराब के कारोबार पर कलेक्टर-SP की दबिश, 50 लाख की शराब व सामग्री जब्त

Rajgarh News: कार्रवाई के दौरान टीम ने अवैध शराब का बड़ा जखीरा पकड़ने के लिए हर घर की तलाशी ली।

राजगढ़, मनीष सोनी । मध्यप्रदेश (MP) के राजगढ़ (Rajgarh) जिले से ब्यावरा के बीच जयपुर जबलपुर हाईवे (Jablalpur Highway) 52 पर अवैध शराब (illegal liquor) के ठिकाने पर पुलिस, आबकारी व प्रशासन की संयुक्त टीम ने दबिश देकर बड़ी मात्रा में अवैध शराब जब्त की है। कलेक्टर हर्ष दीक्षित, एसपी प्रदीप शर्मा की अगुवाई में गुरुवार सुबह हुई इस कार्रवाई में हाईवे पर अवैध शराब बेचने वाली 3 पक्की दुकानें, 20 गुमटियो को जेसीबी की मदद से तोडा गया है।

कार्रवाई के दौरान 1200 लीटर कच्ची शराब सहित 7 पेटी रम, 2 पेटी बियर की जप्त की गई है। वही गाँव के अंदर खेतों के बीच शराब बनाने वाली 8 भट्टियों को तोड़कर, 40 हजार लोटर लहान नष्ट किया गया है। दरअसल जयपुर जबलपुर हाईवे पर देहात थाना क्षेत्र के तहत कटारियाखेड़ी गांव में पुलिस, प्रशासन और आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने पहुंचकर ये कार्रवाई की। इसमें 7 आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किए जाने की कार्रवाई की जा रही है।

Read More: मंत्री बिसाहूलाल सिंह का विवादास्पद बयान – समानता लाना है तो सवर्ण महिलाओं को घर से खींचकर निकाले बाहर

बड़ा जखीरा पकड़ने हर घर की ली तलाशी

कार्रवाई के दौरान टीम ने अवैध शराब का बड़ा जखीरा पकड़ने के लिए हर घर की तलाशी ली। पूरी कार्रवाई के दौरान करीब 1200 लीटर देशी व अंग्रेजी शराब पकड़ाई है। इसके साथ ही 40 हजार किलो महुआ व गुड़ नहान भी जब्त किया गया था जिसे सैंपलिंग के बाद मौके पर ही नष्ट करने की कार्रवाई की गई। कार्रवाई में लहान रखने व अवैध शराब बनाने में उपयोग की जाने वाली 8 बड़ी बड़ी भटि्टयां भी तोड़ दी गई।

8 से 10 थानों के फोर्स के साथ ने दबिश, भाग निकले माफिया

कटारिया खेड़ी गाँव मे कार्रवाई के लिये कलेक्टर हर्ष दीक्षित ,एसपी प्रदीप शर्मा ,ब्यावरा एसडीएम जूही गर्ग सहित आबकारी विभाग व नगर पालिका कर्मचारियों की टीम सहित 8 थानों के फोर्स जिसमे सिटी कोतवाली, ब्यावरा देहात, ब्यावरा सिटी, मलावर, करनवास, कालीपीठ, सुठालिया, बोड़ा आदि थानों का फोर्स भी बुलाकर दबिश दी गई , ताकि शराब माफिया कार्रवाई के दौरान विघन्न न डालने पाए। हालांकि गांव में जैसे ही फोर्स पहुंचा तो माफिया व उनके लोग गांव छोड़कर खेतों के रास्ते से भाग खड़े हुए थे।