पेंशनर्स के लिए राहत भरी खबर, केंद्रीय मंत्री ने आवंटित किए 320 करोड़ रुपए, करोड़ों को मिलेगा लाभ

320 करोड रुपए के आवंटन से करीबन 166471 ईएसएम कर्मचारियों के आश्रितों को फायदा होगा।

PENSION

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देशभर के पेंशनर्स (Pensioners) को रक्षा मंत्रालय ने बढ़ा दी है। दरअसल पूर्व सैनिक और उनके आश्रितों के पेंशन (Pension) संबंधित समस्याओं के हल के लिए ऑनलाइन पोर्टल (Online Portal) का निर्माण किया गया है। शुक्रवार को इसकी जानकारी देते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से पूर्व सैनिक और उनके आश्रितों के पेंशन संबंधित समस्याओं का निपटारा किया जाएगा।

इसके साथ ही रक्षा मंत्री रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि डीईएसडब्ल्यू ने सशस्त्र सेना झंडा दिवस कोष को 320 करोड रुपए आवंटित किए हैं। इस राशि का उपलोग कल्याणकारी योजना, विशेष रूप से ईएसएम की विधवाओं और बच्चों के लिए शिक्षा और विवाह अनुदान के लंबित आवेदन को पूरा किया जाएगा। साथ ही सभी ब्लॉक को पूरा करने में मदद मिलेगी।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 320 करोड रुपए के आवंटन से करीबन 166471 ईएसएम कर्मचारियों के आश्रितों को फायदा होगा। वही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पेंशन संबंधित मामले का निपटारा करने के लिए शुरू किए गए। पोर्टल पर पूर्व सैनिक कल्याण विभाग के साथ सीधे सीधे शिकायत दर्ज करने की अनुमति दी जाएगी। रक्षा मंत्री ने कहा कि और उनके आश्रित की पारिवारिक पेंशन संबंधित सनी समस्या का त्वरित निपटारा किया जाएगा। इसके लिए पेंशन के लिए समर्पित रक्षा पेंशन शिकायत निवारण के स्थापना की घोषणा करते हुए काफी खुशी हो रही है।

Read More : MPPEB 2021 : उम्मीदवारों के लिए राहत भरी खबर, परीक्षा परिणाम घोषित; यहाँ करें डाउनलोड

मंत्री ने कहा कि अपोर्टल सैन्य पेंशन भोगियों की मदद करेगा। इसके अलावा पंजीकृत नंबर और ईमेल पर एसएमएस उपभोक्ता पोर्टल के माध्यम से अपनी मामले की पुष्टि और ट्रैकिंग स्थिति की भी सूचना ले सकेंगे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पुनर्वास महानिदेशालय ने अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 के बीच सरकारी क्षेत्र सार्वजनिक उपक्रम बैंक और निजी क्षेत्र में ईएसएम को करीबन 22278 नौकरी उपलब्ध करवाई गई है। वहीं सेवानिवृत्ति और पहली बार प्रवेश पाने वाले लोगों की संख्या वर्ष 2021 में 7898 आंकी गई है।

बता दें कि इससे पहले केंद्र सरकार की तरफ से करोड़ों पेंशन भोगियों को बड़ी राहत दी गई। जहां जीवन प्रमाण पत्र में पेंशनभोगी फेस रिकॉग्निशन तकनीक (Face recognition technique) का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे न सिर्फ पेंशन भोगियों को ईपीएफओ और पेंशन निकालने की सुविधा होगी बल्कि व्यापक स्तर पर स्पष्टीकरण खुलकर सामने आएंगे।

वहीं केंद्र सरकार द्वारा पेंशन भोगियों के जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की अंतिम तिथि को भी बढ़ाकर 28 फरवरी 2022 तक कर दिया गया है। बता दें कि इससे पहले प्रमाण पत्र जमा करने की तिथि 31 दिसंबर रखी गई थी।  जीवन प्रमाण पत्र के आधार पर पेंशन भोगियों को आगे की पेंशन जारी की जाएगी। इसके साथ ही बुजुर्ग फेस रिकॉग्निशन तकनीक का इस्तेमाल कर प्रमाण पत्र दिखाकर अपनी पेंशन के लिए आवेदन कर सकेंगे।

यह सुविधा वरिष्ठ नागरिक पेंशन भोगियों के लिए बेहद उपयोगी साबित होगी। जो बुजुर्गों उंगलियों के निशान बायोमेट्रिक आईडी के रूप में जमा करने में असमर्थ महसूस कर रहे हैं। वहीं नई तकनीक में ही यूआईडीएआई के आधार पर सॉफ्टवेयर के माध्यम से फेस रिकॉग्निशन सर्विस के माध्यम से बुजुर्ग डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा करने में सक्षम होंगे।