RSS प्रमुख मोहन भागवत ने फिर कहीं हिन्दू और हिंदुत्व को लेकर बड़ी बात

भागवत ने कहा कि भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हुई हैं इसलिए हिन्दू और भारत अलग नहीं हो सकता और  भारत हिन्दू से अलग नहीं हो सकता।  इसलिए भारत को अखंड बनना ही पड़ेगा।है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना । राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत (RSS Sarsanghchalak Dr. Mohan Bhagwat ) ने फिर हिन्दू और हिंदुत्व को लेकर बड़ा बयान दिया है।  शनिवार को RSS प्रमुख ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं हैं और भारत के बिना हिन्दू नहीं है।  इसलिए हिन्दू को हिन्दू रहना है तो भारत को अखंड  भारत बनाना ही पड़ेगा।   

शनिवार को ग्वालियर में आयोजित स्वदेश समाचार पत्र के स्वर्ण जयंती समारोह में शामिल होने RSS प्रमुख डॉ मोहन भागवत ने कहा कि आजादी के समय अंग्रेजों को देश से भागने के लिए पत्रकारिता में जोश की आवश्यकता थी, वैसे हर काम के लिए जोश आवश्यक होता है लेकिन अब जोश के साथ होश भी होना चाहिए।  उन्होंने कहा कि जैसे जैसे लोगों में होश को लाया जा रहा है देश के दिन अच्छे हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें – सीएम शिवराज का तंज, जो लोग कल तक राम नाम पर ताने कसते थे, वही आज राम भक्ति कर रहे हैं

सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत ने कहा कि हम हिन्दू हैं ये हिंदुस्तान है और हिंदुत्व यहीं से आया है यहाँ ही हमारा विकास हुआ है। भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हुई हैं इसलिए हिन्दू और भारत अलग नहीं हो सकता और  भारत हिन्दू से अलग नहीं हो सकता।  इसलिए भारत को अखंड बनना ही पड़ेगा।

ये भी पढ़ें – क्या आपके पास है 1 रुपया का सिक्का तो आपको मिलेंगे 2.5 लाख रुपये, जाने प्रक्रिया और नियम

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने पाकिस्तान के नाम लेते हुए कहा कि भारत टूटा तो पाकिस्तान बना, क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं , वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई।  उन्होंने कहा कि ये हिंदुस्तान हैं और यहाँ परंपरा से हिन्दू रहते आये हैं।

ये भी पढ़ें – कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन को लेकर प्रदेश में भी सतर्कता, सीएम ने बुलाई बैठक

स्वदेश की पचास वर्ष की ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता की प्रशंसा करते हुए RSS प्रमुख डॉ मोहन भागवत ने कहा कि स्वदेश में स्व और देश दो शब्द हैं।  स्वदेश ने ना स्व को छोड़ा और ना देश को।  इसलिए आज ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता की बात आती है तो स्वदेश का नाम ही स्मृतिपटल पर आता है।  उन्होंने कहा कि हमें हमारे स्व को पहचानना होगा। हमारा अस्तित्व एकजुटता में है सबको समझना हैं, हमें ऐसा बनना पड़ेगा नहीं तो हम टिक नहीं पाएंगे।  हिन्दू को हिन्दू भाव से चलना है और अखंड भारत का निर्माण करना है।
RSS प्रमुख मोहन भागवत ने फिर कहीं हिन्दू और हिंदुत्व को लेकर बड़ी बात RSS प्रमुख मोहन भागवत ने फिर कहीं हिन्दू और हिंदुत्व को लेकर बड़ी बात