Scindia को मिलेगा ये मंत्रालय! MP के इस दिग्गज की भी Modi Cabinet में एंट्री संभव

कैबिनेट बैठक से पहले मोदी सरकार द्वारा कई मंत्रियों की समीक्षा बैठक की गई थी। इस दौरान अनुमान लगाए गए थे की अच्छा प्रदर्शन ना करनी वाले मंत्रियों की छुट्टी की जा सकती है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। अगले साल भारत के 5 राज्यों में होने वाले चुनाव (upcoming elections) को देखते हुए मोदी सरकार (modi government) जल्द अपनी कैबिनेट का विस्तार (cabinet expansion) कर सकती है। इस दौरान मध्यप्रदेश में तख्तापलट करने वाले राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) को मोदी सरकार बड़ा तोहफा दे सकती है। केंद्र में मोदी सरकार की कैबिनेट में Scindia का मंत्री बनाया जाना लगभग तय है। वहीं चर्चाओं की माने तो उन्हें रेल मंत्रालय (rail ministry) दिया जा सकता है।

मोदी सरकार द्वारा अपने मंत्रिमंडल में 1 या 2 दिन में फेरबदल किया जा सकता है। इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा सर्वानंद सोनोवाल को भी मंत्री पद दिया जा सकता है। दरअसल Scindia को रेलवे की कमान अथवा शहरी विकास (Urban Development) या मानव संसाधन (human resource) जैसे मंत्रालय दिए जा सकते हैं। 15 महीने पहले सिंधिया BJP में शामिल हुए थे। इधर चर्चाओं की माने मोदी कैबिनेट मध्य प्रदेश के एक मंत्री को हटाया जा सकता है। इसके जगह पर पार्टी के दिग्गज कैलाश विजयवर्गीय (kailash vijayvargiya) को जगह दी जा सकती है। हालांकि आधिकारिक तौर पर अभी तक इस मामले की पुष्टि नहीं की गई है।

Read More: कोरोना को लेकर सख्त शिवराज सरकार, नाइट कर्फ्यू पर लिया बड़ा फैसला, आदेश जारी

ज्ञात हो कि वर्तमान में मोदी कैबिनेट में मध्य प्रदेश के चार मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (narendra singh tomar), प्रह्लाद पटेल (prahlad patel), फग्गन सिंह कुलस्ते (faggan ingh kulaste) सहित थावरचंद गहलोत शामिल है। वही चर्चा है कि थावरचंद गहलोत अथवा फग्गन सिंह कुलस्ते में से किसी एक की छुट्टी हो सकती है। इसकी जगह पर कैलाश विजवर्गीय को जगह दिया जा सकता है।

वहीं मध्यप्रदेश में खंडवा का लोकसभा चुनाव (khandwa loksabha election) होना है। पार्टी की रणनीतियों की माने तो बीजेपी खंडवा से कैलाश विजयवर्गीय को चुनाव लड़ने की तैयारी में है। इधर कांग्रेस के दिग्गज नेता सज्जन सिंह वर्मा (sajjan singh verma) द्वारा भी कैलाश विजयवर्गीय को खंडवा से चुनाव लड़ने की चुनौती दी गई है।

मध्य प्रदेश में जहां तख्तापलट करते हुए कमलनाथ की सरकार (kamalnath government) गिराकर शिवराज सिंह चौहान को एक बार फिर से मुख्यमंत्री बनाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया को केंद्र से तोहफा दिया जा सकता है। पश्चिम बंगाल के चुनाव (bengal election) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कैलाश विजयवर्गीय की मेहनत की वजह से ही बंगाल में बीजेपी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। जिस का तोहफा उन्हें तोहफा दिया जा सकता है।

कैबिनेट बैठक से पहले मोदी सरकार द्वारा कई मंत्रियों की समीक्षा बैठक की गई थी। इस दौरान अनुमान लगाए गए थे की अच्छा प्रदर्शन ना करनी वाले मंत्रियों की छुट्टी की जा सकती है। वहीं कई ऐसे मंत्री हैं। जिनसे मंत्रालय छीना जा सकता है। जबकि अतिरिक्त प्रभार उठा रहे मंत्रियों से भी प्रभार वापस लिए जा सकते हैं।