Sex Racket : हाई प्रोफाइल रैकेट का खुलासा, Video बना लोगों को फंसाते थे दंपति, कई गिरफ्तार

बाद में उसने महिला से अवैध संबंध बना लिए। महिला के पति इस बात से अच्छी तरह वाकिफ थे।

sex racket

भुवनेश्वर, डेस्क रिपोर्ट। ओडिशा (odisha) के अंगुल जिले में पुलिस ने एक हाई प्रोफाइल (high profile) सेक्स रैकेट (sex racket) का भंडाफोड़ किया है। इस सिलसिले में एक सरगना दंपति और एक स्थापित व्यवसायी पिता-पुत्र को गिरफ्तार (arrest) किया गया है। अंगुल शहर के बाहरी इलाके तुरंगा इलाके के दुर्गा विहार में हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट चलाया जा रहा था। पुलिस (police) को धोखाधड़ी के एक मामले की जांच के दौरान इस बात का पता चला।

इस मामले में  कथित तौर पर एक महिला के पति द्वारा ज्ञात व्यवसायी राजीव अग्रवाल के बेटे अभिषेक के फोन पे खाते से 1.39 लाख रुपये जबरन ट्रांसफर किए गए थे। इसके अलावा शिकायत के अनुसार उसने अभिषेक का मोबाइल फोन लूट लिया।

वहीं महिला ने राजीव और अभिषेक पर रेप (rape) का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी भी दर्ज करायी थी। पुलिस इन मामलों की जांच कर रही थी जब पूरे मामले की जानकारी हुई। 2019 में महिला के पति ने ट्रैक्टर शोरूम (showroom) खोलने के लिए राजीब से मदद मांगी थी, जिसके बाद राजीब दंपत्ति के संबंध में आ गया। बाद में उसने महिला से अवैध संबंध बना लिए। महिला के पति इस बात से अच्छी तरह वाकिफ थे।

Read More: MP Board : इन छात्रों को लग सकता है बड़ा झटका, ये है कारण

यहां तक ​​कि दंपति ने अवैध संबंध का एक वीडियो (Video) भी शूट किया था और राजीव को वायरल (viral) करने की धमकी दी थी और 20 लाख रुपये मांगे थे। हालांकि राजीव ने पैसे नहीं दिए थे। इसी बीच राजीव के बेटे अभिषेक का महिला से संबंध बन गया। 25 अगस्त को जब अभिषेक महिला के घर गया तो पैसे के लेन-देन को लेकर मारपीट हुई और मामला पुलिस की जांच के दायरे में आ गया।

पुलिस ने जांच शुरू की और पता चला कि दंपति सेक्स रैकेट चला रहे थे और अमीर लोगों को निशाना बना रहे थे। वे बड़े लोगों को ब्लैकमेल भी कर रहे थे। पुलिस ने महिला के किराए के मकान से आपत्तिजनक सामग्री, अश्लील फोटो व वीडियो, मोबाइल फोन, बैंक पासबुक जब्त की है। महिला दुर्गा विहार इलाके में ब्यूटी पार्लर चला रही थी। पुलिस ने पार्लर में भी अवैध काम चलाने पर संदेह जताया है।

उक्त मामले में दो मामले दर्ज किए गए हैं। 1.39 लाख रुपये की धोखाधड़ी के आरोप में दंपती को गिरफ्तार किया गया है। मामले की जांच ASI सत्यरंजन लेंका कर रहे हैं। उधर, व्यवसायी पिता-पुत्र को इंस्पेक्टर निरुपमा जेना ने गिरफ्तार कर कोर्ट भेज दिया है. छापेमारी के दौरान पुलिस टीम में एएसआई अनुपमा पात्रा और अन्य शामिल थे।