मांझे ने काटी 20 वर्षीय छात्रा के जीवन की डोर, सीएम शिवराज ने जताया शोक, दिए कई निर्देश

इस घटना पर शोक जताते हुए सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने जिला प्रशासन को कड़े निर्देश दे दिए हैं।

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (Ujjain) में मकर संक्रांति(Makar Sankranti) के मौके पर आज एक अजीब वाकया देखने को मिला। दरअसल 20 साल की छात्रा की जान चाइनीस माझा ने ले ली। दरअसल जीरो पॉइंट पर उसकी गर्दन में माझा उलझ गया। जिससे उसका गला कट गया। गला कटने की वजह से लड़की की मौत मौके पर ही हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। वहीं इस घटना पर शोक जताते हुए सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने जिला प्रशासन को कड़े निर्देश दे दिए हैं।

सीएम शिवराज ने कहा कि उज्जैन के थाना माधवनगर में 20 वर्षीय बेटी नेहा के गर्दन पर पतंग का मांझा जाने से हुए हादसे के निधन समाचार अत्यंत व्यथित करने वाला है। वहीं उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि जो भी खतरनाक मांझे बाजार में बिक रहे हैं। उनकी जांच की जाए, उस पर कड़ी कार्रवाई की जाए।

Read More : Bhopal : पुलिस कमिश्नर प्रणाली में होगा बड़ा बदलाव, आम जनता को मिलेगा लाभ, आदेश जारी

जानकारी के मुताबिक मृत छात्रा का नाम नेहा अंजना है। इनके पिता का नाम उमेश सिंह है। यह महिदपुर तहसील के नारायण गांव की रहने वाली हैं। फिलहाल वह उज्जैन में मामा के घर रह कर पढ़ाई कर रही थी। संक्रांति के मौके पर नेहा अपने मामा की बेटी के साथ इंदिरा नगर से फ्रीगंज के लिए निकली थी।

मामले में बहन का कहना है कि हादसे के वक्त नेहा मौके पर काफी देर तड़पती रही लेकिन घटनास्थल पर काफी खून और उसकी तड़पती बहन को देखते हुए लोग तमाशबीन बने रहे और किसी ने मदद नहीं की। जिसके बाद वहां पर मौजूद एक एडवोकेट रविंद्र सिंह सेंगर ने उनकी मदद की और छात्रा को अपनी कार में बैठाकर पाटीदार अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन उससे पहले ही छात्रा की मौत हो चुकी थी। वहीं पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।