Ujjain : मोहर्रम जुलूस के वायरल वीडियो पर पुलिस का एक्शन, आरोपी पर केस दर्ज

बिना सच्चाई स्पष्ट हुए एक व्यक्ति की मौत 5 लोगों के घायल होने का मैसेज भी तेजी से वायरल किया गया था। जिस पर अब पुलिस ने बड़ा एक्शन लिया है।

NIFT

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain) में मोहर्रम (muharram) के दिन माहौल बिगाड़ने की साजिश रची गई है। दरअसल बीती रात मोहर्रम के जुलूस में एक ही समुदाय के दो गुटों में लाठी चार्ज हो गई। वीडियो में दिखाया जा रहा है कि जुलूस में शामिल 1 दर्जन से अधिक युवक घायल हो गए हैं। इसका वीडियो तेजी से इंटरनेट पर वायरल (Muharram video viral) हो गया। वायरल वीडियो में जुलूस के दौरान विवाद बताते हुए एक व्यक्ति के मरने और 5 लोगों के घायल होने का मैसेज वायरल किया गया था। जिस पर पुलिस ने स्पष्टीकरण जारी किया है।

इसके साथ ही मामले में आरोपी बृजेश कुमार सिंह पाल के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस ने भ्रामक खबर फैलाने के जुर्म में यह पूरी कार्रवाई की है। मामले में पुलिस का कहना है कि मंगलवार शाम को एक मैसेज तेजी से वायरल किया गया। जिसमें उज्जैन के तोपखाना क्षेत्र में मोहर्रम जुलूस के दौरान दो पक्षों में विवाद दर्शाया गया है। इस दोनों पक्षों के बीच लाठियों से हमले जारी थे।जिसका किसी ने वीडियो बनाया था। वही भ्रामक जानकारी में बिना सच्चाई स्पष्ट हुए एक व्यक्ति की मौत 5 लोगों के घायल होने का मैसेज भी तेजी से वायरल किया गया था। जिस पर अब पुलिस ने बड़ा एक्शन लिया है।

Read More : स्टाफ सहित पॉलिसी धारकों के लिए खुशखबरी, मिलेगा 861 करोड रुपए बोनस, खाते में आएगी एकमुश्त राशि

उज्जैन पुलिस के संज्ञान में आया कि 09 अगस्त को व्हाट्सएप सोशल मीडिया पर संचालित ग्रुप Attack news में एक अप्रमाणिक भ्रामक वीडियो मैसेज आया। जिसमे उज्जैन में मोहर्रम के जुलूस के दौरान एक व्यक्ति की मृत्यु व 05 व्यक्तियों को जुलूस द्वारा हमला कर घायल किया गया है। इस मैसेज को सोशल मीडिया पर फॉरवर्ड किया गया है। जिससे माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई। उज्जैन पुलिस के संज्ञान में आते ही उक्त व्यक्ति के मोबाइल नंबर डिटेल निकली गई।

डीटेल अनुसार व्यक्ति का नाम बृजेश खुंमन सिंह है, जो काजीपुरा में रहता है। जिससे साइबर सेल द्वारा संपर्क किया गया। व्यक्ति द्वारा स्वयं को Attack news(e-paper) में पत्रकार बताया जा रहा है। वहीँ वायरल किए गए मैसेज के संबंध में व्यक्ति ने बताया कि उसे मैसेज किसी के द्वारा फारवर्ड किया गया था। जिसकी प्रमाणिकता जांचे बैगर ही उसके द्वारा अन्य ग्रुप में वायरल किया गया है। इधर पुलिस ने व्यक्ति के विरुद्ध थाना जीवाजीगज में संबंधित धाराओं में अपराध पंजीबद्ध किया गया है। साथ ही वीडियो और मैसेज को तत्काल की कार्रवाई कर हटाया जा चुका है।