केंद्रीय मंत्री के निर्देश एयर टर्मिनल का विस्तार हो, आलू अनुसंधान की गतिविधियां कम प्रभावित हो

एयर टर्मिनल के विस्तार के लिए आलू अनुसंधान केन्द्र की 110 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा माँगी गई है। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia), केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ग्वालियर के राजमाता विजयाराजे सिंधिया एयरपोर्ट के विस्तार के काम को गति प्रदान करने के लिए संयुक्त रूप से प्रयास कर रहे हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज शनिवार को आलू अनुसंधान केन्द्र पहुँचकर वस्तुस्थिति समझी। उन्होंने आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन का जायजा लेने के दौरान कहा कि प्रयास ऐसे हों, जिससे एयर टर्मिनल के विस्तार में कोई बाधा न आए साथ ही आलू अनुसंधान की गतिविधियाँ भी बेहतर ढंग से चलती रहें। वे  वे कम से कम प्रभावित हों। केंद्रीय मंत्री ने इस अवसर पर सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि एक हफ्ते में समन्वित रूप से रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत कर दें, जिससे एयरपोर्ट अथॉरिटी को एयर टर्मिनल के विस्तार के लिए जमीन हस्तांतरित की जा सके।

गौरतलब है कि एयर टर्मिनल विस्तार के लिए उससे लगी हुई कृषि मंत्रालय के अधीन संचालित आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन को फाइनल किया गया है । केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के भ्रमण के दौरान डीडीजी हॉर्टिकल्चर आईसीएआर ए के सिंह व डायरेक्टर आईसीएआर सीपीआरआई शिमला मनोज कुमार सहित कृषि अनुसंधान परिषद व एयरपोर्ट अथॉरिटी के वरिष्ठ अधिकारी, कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, केद्रीय आलू अनुसंधान केंद्र ग्वालियर के अध्यक्ष शिव प्रताप सिंह एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किशोर कान्याल समेत अन्य संबंधित अधिकारी भी आलू अनुसंधान केन्द्र में मौजूद थे।

केंद्रीय मंत्री के निर्देश एयर टर्मिनल का विस्तार हो, आलू अनुसंधान की गतिविधियां कम प्रभावित हो

ये भी पढ़ें – कमलनाथ का शिवराज पर पलटवार- जल्द ही पूरे देश से भाजपा की नाव डूबेगी

आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन का जायजा लेने के बाद केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने निर्देश दिए कि एयरपोर्ट अथॉरिटी, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद एवं जिला प्रशासन के अधिकारी आपसी समन्वय बनाकर एयर टर्मिनल विस्तार की रूपरेखा को अंतिम रूप दें। उन्होंने कहा इस काम को जल्द से जल्द धरातल पर लाने के लिए कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह नोडल अधिकारी का दायित्व निभाएं। उन्होंने कहा कि एयर टर्मिनल के काम को गति देने के लिए दिल्ली में भी संबंधित अधिकारियों के साथ आलू अनुसंधान केन्द्र की जमीन के हस्तांतरण के संबंध में बैठक की जाए।

केंद्रीय मंत्री के निर्देश एयर टर्मिनल का विस्तार हो, आलू अनुसंधान की गतिविधियां कम प्रभावित हो

ये भी पढ़ें – BJP ने MP में इन्हें सौंपी बड़ी जिम्मेदारी, सूची जारी

केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह  तोमर ने कहा कि ग्वालियर की प्रगति के लिए अत्याधुनिक एयरपोर्ट और केन्द्रीय आलू अनुसन्धान केन्द्र दोनों जरूरी हैं। एयर कनेक्टिविटी बढ़ने से जहाँ ग्वालियर-चंबल अंचल में हवाई यात्रा की सुविधा बढ़ने के साथ-साथ औद्योगिक निवेश को बढ़ावा मिलेगा। वहीं आलू अनुसंधान केन्द्र भी ग्वालियर-चंबल अंचल सहित देशभर के किसानों को आलू के उन्नत बीज मुहैया कराकर उनकी समृद्धि में महती भूमिका निभा रहा है।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : सूनी रहेगी भाइयों की कलाई, सेन्ट्रल जेल में नहीं मनेगा रक्षाबंधन

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने एयर टर्मिनल के लिए दी जाने वाली जमीन के बारे में विस्तार से जानकारी दी। साथ ही एयरपोर्ट अथॉरिटी के अधिकारियों ने प्रस्तावित एयर टर्मिनल की रूपरेखा के बारे में बताया। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी किशोर कान्याल ने बताया कि एयर टर्मिनल के विस्तार के लिए आलू अनुसंधान केन्द्र की 110 एकड़ जमीन एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा माँगी गई है।