दिल्ली-मुंबई सहित इन राज्य में भारी बारिश की चेतावनी, येलो-रेड अलर्ट जारी, 4 राज्यों में बढ़ेगा तापमान, जाने IMD का पूर्वानुमान

दरअसल 10 जुलाई तक इन क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इसके लिए येलो और रेड अलर्ट जारी किया गया है।

IMD Alert

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्दे। देशभर में मानसून (Monsoon 2022) के सभी राज्य में प्रवेश के साथ ही बारिश का दौर शुरू हो गया। IMD अलर्ट के मुताबिक उत्तर भारत सहित पश्चिमी और पूर्वी भारत में भारी बारिश (Rain alert) का दौर देखने को मिलेगा। दरअसल 10 जुलाई तक इन क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इसके लिए येलो और रेड अलर्ट जारी किया गया है। जबकि पर्वतीय राज्य में भी भारी बारिश का अलर्ट (Rain alert) जारी किया गया। हालांकि उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड सहित पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में एक बार फिर से तापमान में वृद्धि देखने को मिलेगी। आसमान साफ रहेंगे कड़ी धूप खिली रहेगी। जिससे तापमान में दो से तीन फीसद की वृद्धि देखने को मिल सकती है।

देश के लगभग सभी हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगमन के बाद भारत मौसम विज्ञान विभाग ने मंगलवार को पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, कोंकण, गोवा, तटीय कर्नाटक और केरल के अलग-अलग स्थानों पर ‘भारी से बहुत भारी’ बारिश का अनुमान लगाया है। इधर अगले पांच दिनों के दौरान जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में गरज-चमक के साथ व्यापक बारिश की संभावना है। वहीं पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़-दिल्ली में 7 और 8 जुलाई को भारी बारिश की संभावना है।

इस बीच, आईएमडी ने गुजरात के अनुभव को 7-9 जुलाई से बहुत भारी वर्षा का अनुमान लगाया है, जबकि सौराष्ट्र और कच्छ,मध्य प्रदेश क्षेत्रों में 8 और 9 जुलाई को बारिश होने की उम्मीद है। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने आगे कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग भारी वर्षा के साथ छिटपुट वर्षा गतिविधि कि चेतावनी दी है। जम्मू और कश्मीर, लद्दाख में छिटपुट गरज / बिजली के साथ काफी व्यापक / व्यापक वर्षा होने की संभावना है।

Read More : पेंशनर्स के लिए महत्वपूर्ण अपडेट, प्रस्ताव को मिली मंजूरी, 15 लाख को मिलेगा लाभ, नियम में होंगे बदलाव

जबकि अगले 24 घंटों के दौरान पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़-दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में व्यापक वर्षा होने की संभावना है, आईएमडी बुलेटिन ने सूचित किया। उपरोक्त क्षेत्रों में 5-9 जुलाई की अवधि के दौरान क्षेत्र में अलग-अलग गरज / बिजली के साथ व्यापक वर्षा गतिविधि का अनुभव होने की संभावना है। अपने पूर्वानुमान में, आईएमडी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर, लेह-लद्दाख और हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अलग-अलग स्थानों पर भी भारी बारिश की संभावना है। ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मेघालय, त्रिपुरा और गुजरात में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है।

इधर बिहार में 12 जुलाई से मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। उत्तर प्रदेश में भी 11 जुलाई से मौसम में बदलाव देखेंगे वही गरज चमक के साथ बारिश की संभावना जताई गई है हालांकि इस दौरान अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है।

इधर भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार को अगले पांच दिनों तक कर्नाटक के कई इलाकों में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। मौसम ने कहा कि तटीय कर्नाटक में 5 जुलाई को बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। आईएमडी ने अपने नवीनतम बुलेटिन में कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान मराठवाड़ा और उत्तरी आंतरिक कर्नाटक में गरज / बिजली के साथ व्यापक वर्षा का अनुमान है।

Read More : Gold Silver Rate : सोना चमका, चांदी भड़की, ताजा भाव देखकर ही खरीदें

दक्षिण-पश्चिम मानसून के पूरे भारत में होने के कारण, अधिकांश राज्यों में वर्षा की गतिविधि तेज हो गई है। आईएमडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, मध्य और उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में मॉनसून गतिविधि में अस्थायी मंदी थी, लेकिन यह मंगलवार से फिर से तेज हो जाएगी।

मौसम विभाग ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अलग-अलग स्थानों पर 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं और पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ गरज के साथ गरज के साथ छींटे पड़ने और बिजली गिरने की भी भविष्यवाणी की है।

मौसम कार्यालय ने कहा कि 5-6 जुलाई से उत्तर आंतरिक कर्नाटक में भारी बारिश की संभावना है।
आईएमडी ने मछुआरों को अरब सागर में न जाने की चेतावनी दी है है दरअसल अरब सरकार में कुछ तूफानी गतिविधि से यह अशांत होगा। 4 जुलाई को उडुपी, उत्तर कन्नड़, दक्षिण कन्नड़, कोडगु, शिवमोग्गा, बेलगावी, विजयपुरा जिलों में भारी बारिश हुई।