100 Days of Shivraj: वर्चुअल रैली में बोले शिवराज- कमलनाथ 4D की सरकार

भोपाल।

मध्यप्रदेश में बीजेपी को सत्ता में लौटे 100 दिन से अधिक का वक्त हो चुका है। इस बीच अपनी उपलब्धि और जनकल्याण नियमों को जनता के समक्ष बताने के लिए बीजेपी ने वर्चुअल रैली का आयोजन किया गया। जहां प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इन 100 दिनों का श्रेय प्रदेश सरकार ने सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं को दिया है। उन्होंने कहा कि ये सौ दिन प्रधानमंत्री का आशीर्वाद, राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृह मंत्री के सानिध्य और भाजपा के सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के सहयोग का परिणाम है। सेवा, समर्पण और विश्वास के सौ दिन।

कमलनाथ सरकार 4D की सरकार

शिवराज ने कहा कि सरकार ने अपने 15 माह के कार्यकाल में जनता के साथ ही भाजपा के कार्यकर्ताओं के घर भी तोड़े, उन्हें बेवजह जेल भेजा गया। उनके खिलाफ़ झूठे मामले तक दर्ज हुए।कमलनाथ सरकार दलाल, दंभ, दुर्भावना और दिग्विजय यानि 4D सरकार थी। कमलनाथ सरकार ने वल्लभ भवन को दलाली का अड्डा बना दिया था। पूरे प्रदेश को लूट कर खाली कर दिया। जनता से झूठे वादे किये। कांग्रेस सरकार में कमलनाथ के पास कोई जनता की समस्या लेकर जाता था तो उसे भगा देते थे लेकिन अगर कोई नोट लेकर आता तो उसका स्वागत किया जाता था।मिस्टर बंटाधार सदैव दम्भ और अहंकार से भरे रहते हैं।

जनता का खून चूसना जानती है कांग्रेस

सीएम ने कहा कि कांग्रेस के नेता जनता को कुछ नहीं समझते, ये केवल अपनी जेबें भरना जानते हैं, जनता का खून चूसना जानते हैं।कमलनाथ जी ने किसानों से कर्ज़माफी को लेकर हमेशा झूठ बोला। इन्होंने बीमा का प्रीमियम ही नहीं भरा। मैंने आते ही साथ प्रीमियम भरा जिससे किसानों के खातों में बीमा के 2,990 करोड़ रुपये आये।

अन्नदाता को प्रणाम

मुख्यमंत्री ने कहा कि धन्य हैं मेरे अन्नदाता, जिधर भी देखो गेहूं ही गेहूं। बम्पर उत्पादन। हमने भी लॉक डाउन में 1 करोड़ 29 लाख मीट्रिक टन से अधिक गेहूं खरीद कर पंजाब को पीछे छोड़ दिया। कोवि़ड संकट में भी उपज का एक-एक दाना खरीदने की हमने व्यवस्था की यशस्वी प्रधानमंत्री जैसे नेता को देखते हैं। तो लगता है कि बिना ईश्वरीय शक्ति के इतना काम कोई साधारण व्यक्ति नहीं कर सकता है। मोदी जी के हाथों में देश सुरक्षित है।

पुनर्जीवित हुई संबल

सीएम चौहान ने कहा कि कमलनाथ जी ने हर जनकल्याणकारी योजना को मध्यप्रदेश में बंद कर दिया था। संबल योजना को भी बंद कर दिया गया। मैं गरीबों को बताना चाहता हूँ कि संबल योजना को अब पुनर्जीवित कर दिया गया है। किसी भी गरीब बंधु को चिंतित होने की ज़रूरत नहीं है।प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए हमने संकल्पित प्रयास किया श्रम सिद्धि और रोजगार सेतु अभियान प्रारम्भ कर रोजगार प्रदान करने का प्रयास किया। यह खुशी की बात है कि कुशल और अकुशल लगभग 26 लाख श्रमिकों को रोजगार मिला है।

कोरोना से ज्यादा बड़े संकट कमलनाथ

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि में कोरोना से ज़्यादा बड़ा संकट तो कमलनाथ जी थे।हमारे सौ दिन समाधान के हैं। पहले जहाँ प्रदेश में इस संकट से निपटने की कोई व्यवस्था नहीं थी, वही की सरकार में हमने इसपर काफी हद तक नियंत्रण पा लिया है।स्वसहायता समूह की बहनों को सशक्त बनाने का हमने संकल्प लिया है। 700 करोड़ रुपये के पोषण आहार का काम ठेकेदार नहीं, बल्कि बहनें करेंगी। ये 100 दिन सुधार के दिन हैं। मंडी कानून हमने बदल दिया। कृषि मंडिया रहेंगी, लेकिन किसान और व्यापारी में सहमति बने तो वह अनाज घर से ही बेच सकेंगे। किसान को प्रतिस्पर्धी कीमत मिलेगी, किसान को अधिक लाभ मिलेगा।

बता दें कि 23 मार्च को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। जिसके बाद सरकार के 101 दिन पूरे होने पर मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया था। वहीं सरकार के 100 दिन पूरे होने पर बीजेपी द्वारा विशाल रैली का आयोजन किया गया। जहां मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान द्वारा अपनी उपलब्धियां जनता के समक्ष रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here