बदहाल व्यवस्था-बेबस मरीज, नसबंदी के बाद महिलाओं को जमीन पर लिटाया

विदिशा। मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य महकमा पूरी तरह से लचर हो चुका है। सरकार की हेल्थ सेवाएंं हाशिए पर हैं। लेकिन सरकार का ध्यान इस ओर अभी तक नहींं है। इलाज में लापरवाही के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। एक बार फिर आपरेशन के बाद मरीजों के साथ लापरवाही का मामला सामने आया है। प्रदेश के विदिशा जिले में महिलाओं की नसबंदी के बाद उन्हें जमीन पर ही लिटा दिया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 41 महिलाओं की नसबंदी की गई। आपरेशन के बाद उन्हें जमीन पर ही लिटा दिया गया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। यह घटना 25 नवंबर की बताई जा रही है। राजधानी से महज 60 किमी दूर बसे इस जिले की स्वास्थ्य सेवाओं का यह हाल है। मामले के उजागर होने के बाद विदिशा का स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया। जब मीडिया में यह मामला सामने आया तो हेल्थ विभाग के अधिकारियों में भी हड़कंप मच गया। 

विदिशा के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी एके अहिरवार ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि इस लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि भविष्य में ऐसी घटनाएं न हों। वहीं मंगलवार रात को जिला कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने कहा कि उनको इस मामले में जानकारी प्राप्त हो गई है। साथ ही मामले की जांचे के आदेश दे दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि इससे पहले भी इसी तरह का एक मामला कटनी जिले से सामने आया था। जहां अस्पताल का वार्ड में निमार्ण कार्य होने के कारण महिला मरीज को जमीन पर ही लिटा दिया गया था।