मप्र में यहां नदियां उफान पर, इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

a-weather-update-heavy-rain-alert-in-madhya-pradesh-

भोपाल| मध्य प्रदेश में मौसम का बदलाव देखने को मिल रहा है| लगातार हो रही बारिश पर कुछ इलाकों में दो दिन का ब्रेक जरूर लगा है, लेकिन एक बार फिर प्रदेश में बारिश का दौर शुरू होगा| मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटे में 18 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। वहीं कई स्थानों पर बारिश का दौर थमा होने से उमस का असर बढ़ने लगा है। लेकिन महाकौशल और मालवा निमाड़ के इलाकों में भारी बारिश देखने को मिल रही है|  

डिंडोरी, मंडला, बालाघाट समेत महाकौशल के अलग अलग क्षेत्रों में अच्छी बारिश हुई है, वहीं मालवा निमाड़ के मंदसौर, नीमच खरगोन के कई स्थानों पर रुक रुक कर बारिश हुई है वहीं झाबुआ अलीराजपुर में नदिया उफान पर आ गयी हैं| आलीराजपुर के कट्ठीवाड़ा में 24 घंटों में 12 इंच बारिश दर्ज की गई। झाबआ के कल्याणपुरा क्षेत्र में रविवार रात गुलाबी नदी में बना पुल ढह जाने से पांच गांवों का संपर्क टूट गया। इसके अलावा सोमवार सुबह पेटलावद क्षेत्र की लाड़की नदी के तेज बहाव में दो लोग फंस गए। एक तो जैसे-तैसे बाहर आ गया, लेकिन दूसरे का पता नहीं चला।  मंदसौर में रविवार को शिवना नदी के के चमेंट एरियों में मूसलधार बरसात होने से शिवना नदी उफान पर आ गई। रात 12 बजे बाद नदी में पानी बढ़ना प्रारंभ हुआ रात एक बजे तक शिवना नदी भगवान पशुपतिनाथ मंदिर गर्भगृह से करीब एक फिट दूर बही।  इस वर्ष दूसरी बार शिवना नदी मंदिर गर्भगृह के इतनी करीब तक पहुंची है, लेकि न एक बार भी मंदिर में प्रवेश नहीं हुआ।

दो युवक बहे 

झाबुआ जिले के पेटलावद के रामगढ़ के पास लाड़की नदी पर सोमवार सुबह  दो युवक बह गए| दिनेश डामर और भेरू रूपा गामड़ शौच करने गए थे। इस बीच नदी में बहाव तेज होने से दोनों बीच में फंस गए। दिनेश तो जैसे-तैसे बाहर निकल गया, लेकिन रूपा बह गया। ग्रामीणों ने 3 किमी तक उसे ढूंढा, लेकिन शाम तक कुछ पता नहीं चा। इसके अलावा कल्याणपुरा क्षेत्र के गुलाबी नदी में बना पुल ढह जाने से पांच गांवों का संपर्क टूट गया।

इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट 

मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र और दक्षिण उत्तर प्रदेश में उपरी हवाओं का चक्रवात बना हुआ है। अगले 24 घंटे में प्रदेश में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसमें अलीराजपुर, भिंड, हरदा, दतिया, होशंगाबाद, झाबुआ, नीमच, राजगढ़, रतलाम, श्योपुरकलां, अनूपपुर, छिंदवाड़ा, दमोह, सिवनी, शहडोल, सिंगरौली जिले शामिल हैं। इधर, मौसम विभाग के अनुसार भोपाल सहित 30 जिलों में आगामी 24 घंटे में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। इनमें रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, दतिया, गुना, ग्वालियर, शिवपुरी, अशोकनगर, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाजापुर, देवास, मंदसौर, आगर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, इंदौर, धार, खंडवा, खरगौन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, श्योपुरकलां, भिंड, मुरैना सहित अन्य जिले शामिल हैं। भोपाल में आंशिक मेघमय मौसम रहेगा। तेज हवाएं चल सकती हैं।


सामान्य से 1 फीसदी कम बारिश 

अब तक प्रदेश में 475.6 मिमी बारिश हाे चुकी है। यह सामान्य बारिश 479.4 िममी से 1 फीसदी कम है। वहीं भोपाल में सामान्य से अधिक बारिश हो चुकी है, राजधानी में अब तक 808.3 मिमी पानी बरस चुका है। यह सामान्य बारिश 501.9 से 61 प्रतिशत ज्यादा है। आठ जिलाें काे छाेड़कर सभी जगह सामान्य या उससे ज्यादा बारिश हाे चुकी है। सीधी जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है, वहां अब तक 55 फीसदी कम बारिश हुई है। 

Rain in Madhya Pradesh :  कट्ठीवाड़ा में 12 इंच बारिश, कल्याणपुरा में पुल ढहा, पांच गांवों का संपर्क टूटा