आकाश विजयवर्गीय के पास आया फोन-”हैलो मैं SP बोल रहा हूं, 10 लाख की जरुरत है”

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर में बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय को एसपी बनकर 10 लाख रुपए ठगने की कोशिश करने वाले को शख्स को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। आरोपी राजस्थान के जोधपुर में छुपा बैठा हुआ था। मुखबिर से सूचना मिलने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है आरोपी अब तक एसपी, विधायक, मजिस्ट्रेट बनकर 16 जिलों में 60 से ज्यादा लोगों से लाखों रुपए ठग चुका है। आरोपी राजस्थान में मिस्टर नटवरलाल के नाम से चर्चित है।

मिली जानकारी के अनुसार,  9 जनवरी को सुरेश उर्फ भैराराम घांची ने विधायक आकाश विजयवर्गीय को फोन किया था और कहा था कि वह इंदौर एसपी यूसुफ कुरैशी बोल रहा है।उनके रिश्तेदार को तत्काल 10 लाख रुपए की जरूरत है। राशि एक अकाउंट नंबर में आरटीजीएस करवा दें।इसके बाद फोन डिस्कनेक्ट हो गया।शंका होने पर विधायक ने एसपी कुरैशी से फोन पर चर्चा की तो उन्होंने रुपए की मांग से इनकार किया। 

इसके बाद विजयवर्गीय ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ 10 लाख रुपए की ठगी करने का मामला दर्ज करवाया।  एसपी ने क्राइम ब्रांच एएसपी अमरेंद्र सिंह चौहान से जांच करवाई तो आरोपी की राजस्थान में लोकेशन मिली। इसके बाद टीम ने पाली के फालना स्टेशन पर उसे गिरफ्तार कर लिया।हालांकि पुलिस को देख आरोपी ने भागने की कोशिश की लेकिन दो किमी पर ही धरा गया। आरोपी युवक हिस्ट्री बदमाश है। राजस्थान में उसके खिलाफ कई मामले दर्ज है। आरोपी  एसपी, विधायक, मजिस्ट्रेट बनकर 16 जिलों में 60 से ज्यादा लोगों से लाखों रुपए ठग चुका है।  वह मिमिक्री आर्टिस्ट भी है। फिलहाल पुलिस आरोपी के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। 

बता दे कि हाल में ही भोपाल में कुलपति की नियुक्ति के लिए राज्यपाल को गृहमंत्री अमित शाह के नाम से फर्जी फोन और ग्वालियर में कमिश्नर एमबी ओझा को हाईकोर्ट जज के नाम से फोन करने के मामले सामने आ चुके हैं।