after-bjp-candidate-announcement-digvijay-welcome-to-sadhvi-pragya-thakur

भोपाल| देश भर में सबसे चर्चित लोकसभा क्षेत्र भोपाल से भाजपा ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को अपना उम्मीदवार बनाया है| उम्मीदवार घोषित होने से एक दिन पहले ही साध्वी ने भाजपा की सदस्य्ता ली और पार्टी ने उन्हें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के सामने उम्मीदवार बनाया है| दिग्विजय ने बीजेपी के इस फैसले पर प्रतिक्रिया दी है और बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा का स्वागत करते हुए माँ नर्मदा से उनके लिए प्रार्थना भी की है| 

दिग्विजय सिंह ने बीजेपी प्रत्याशी की घोषणा के बाद ट्विटर पर वीडियो जारी कर अपनी प्रतिक्रिया दी है| दिग्विजय ने कहा मैं साध्वी प्रज्ञा जी का भोपाल में स्वागत करता हूँ। आशा करता हूँ कि इस रमणीय शहर का शांत, शिक्षित और सभ्य वातावरण आपको पसंद आएगा। उन्होंने आगे कहा मैं माँ नर्मदा से साध्वी जी के लिए  प्रार्थना करता हूँ और नर्मदा जी से आशीर्वाद माँगता हूँ कि हम सब सत्य, अहिंसा और धर्म की राह पर चल सकें। अंत में उन्होंने नर्मदे हर का नारा भी लगा दिया| 

भोपाल सीट का इतिहास 

भोपाल लोकसभा सीट भाजपा की मजबूत गढ़ बन गई है, जहां तीन दशक से कांग्रेस को जीत नहीं मिली है| इस दौरान कांग्रेस ने कई प्रयोग किये, लेकिन सफलता नहीं मिली| इस बार कांग्रेस ने अपने सबसे अनुभवी और शीर्ष नेता को मैदान में उतारा है| 1989 से पहले तक भोपाल लोकसभा सीट कांग्रेस के कब्जे में थी। पूर्व नौकरशाह सुशील चंद्र वर्मा ने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और 1989 में कांग्रेस के केएन प्रधान को हराया। इसके बाद वर्मा लगातार चार बार यहां से सांसद रहे। 1999 में भोपाल लोकसभा से उमा भारती सांसद चुनी गईं। 2004 एवं 2009 में पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी भी सांसद रहे। 2014 में भाजपा ने जोशी का टिकट काटकर उनकी पंसद पर आलोक संजर को टिकट दिया। इस बार भाजपा को भोपाल पर कब्जा बरकरार रखने के लिए लम्बी जदोजहद करनी पड़ी और अंत में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर दांव लगाया गया है|