after-bsp-candidate-join-congress-mayawati-warn-to-congress-

भोपाल| मध्य प्रदेश में कांग्रेस द्वारा बसपा में लगातार की जा रही तोड़फोड़ से बीएसपी सुप्रीमो मायावती तमतमा गई हैं| उन्होंने कांग्रेस पर सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कांग्रेस को चेतावनी जारी करते हुए कहा कि वह मध्य प्रदेश में सरकार को समर्थन जारी रखने पर भी पुनर्विचार करेंगी। मायावती के रुख से प्रदेश की सियासत गरमा गई है| प्रदेश की कमलनाथ सरकार में बसपा के दो विधायकों का समर्थन है, अगर बसपा समर्थन वापस लेती है तो प्रदेश में सियासी उथल पुथल मच सकती है, क्यूंकि भाजपा नेता लगातार इसके संकेत दे रहे हैं| 

दरअसल, सोमवार को गुना-शिवपुरी सीट से बीएसपी प्रत्याशी लोकेंद्र सिंह राजपूत ने कांग्रेस का हाथ थामते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया को समर्थन देने का ऐलान किया है| इससे पहले राजगढ़ में भी बसपा प्रत्याशी ने नामांकन वापस लेते हुए कांग्रेस को समर्थन दे दिया है| इस झटके से बसपा को भारी नुक्सान हुआ है| जिससे मायावती नाराज हो गई हैं| 

मायावती ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा, ‘सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के मामले में कांग्रेस भी बीजेपी से कम नहीं। एमपी के गुना लोकसभा सीट पर बीएसपी उम्मीदवार को कांग्रेस ने डरा-धमकाकर जबर्दस्ती बैठा दिया है किन्तु बीएसपी अपने सिम्बल पर ही लड़कर इसका जवाब देगी व अब कांग्रेस सरकार को समर्थन जारी रखने पर भी पुनर्विचार करेगी”|

कमलनाथ सरकार पर संकट! बसपा सुप्रीमो ने दी समर्थन वापसी की धमकी

समर्थन वापस लिया तो सरकार पर आएगा संकट! 

बता दें कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 114 सीटें मिली थीं, जबकि सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 116 है। कांग्रेस को बीएसपी के 2 विधायक, समाजवादी पार्टी के 1 विधायक और 4 निर्दलीय विधायकों ने समर्थन दिया था जिसके बाद मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी थी। अगर बसपा समर्थन वापस लेती है तब भी कांग्रेस के पास बहुमत रहेगा, लेकिन जिस तरह भाजपा द्वारा सरकार बदलने का दावा किया जा रहा है, ऐसी स्तिथि में सरकार पर संकट आ सकता है|  

बसपा प्रत्याशी ने थामा हाथ, सिंधिया को दिया समर्थन 

सोमवार को शिवपुरी में गुना संसदीय क्षेत्र के बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी लोकेंद्र सिंह राजपूत ने कांग्रेस प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपना समर्थन देने के ��ाथ ही कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली। सिंधिया ने लोकेन्द्र सिंह को कांग्रेस का गमछा पहनाकर स्वागत किया| इस दौरान जिला अध्यक्ष बैजनाथ सिंह यादव भी मौजूद रहे| कांग्रेस में शामिल होने के बाद लोकेन्द्र सिंह ने कहा देश को महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया जी जैसे नेतृत्व की आवश्यकता है तभी क्षेत्र का विकास संभव है | बसपा को प्रदेश में यह दूसरा झटका है| इससे पहले राजगढ़ में भी बसपा प्रत्याशी निशा त्रिपाठी ने भी नामांकन वापस लेते हुए कांग्रेस को समर्थन का ऐलान किया है| वहीं बसपा के कई बड़े नेता भी कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं|