बीमा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में  समर्थन मूल्य पर जारी मूंग की खरीदी के बीच कृषि मंत्री कमल पटेल (Agriculture Minister Kamal Patel) का बड़ा बयान सामने आया है।कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि MSP पर मूंग उपार्जन के लिए निर्धारित सभी केंद्रों पर खरीदी कार्य को शीघ्रता से करने के निर्देश  दिए गए हैं।उन्होंने कहा कि खरीदी के लिए भेजें जा रहे SMS में लघु एवं सीमांत किसानों को प्राथमिकता दी जाए। केंद्रों पर खरीदी कार्य में गति लाएँ और नए बनाए गए केंद्रों को जन-प्रतिनिधियों के माध्यम से शुभारंभ कर खरीदी कार्य शुरू करें।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के सभी संभागों में बारिश के आसार, जानें अपने जिले का हाल

आज शनिवार को होशंगाबाद कलेक्टोरेट (Hoshangabad Collectorate) के NIC कक्ष से नर्मदापुरम संभाग के तीनों जिले की मूंग खरीदी कार्य समीक्षा बैठक में कृषि मंत्री  कमल पटेल ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित समस्त योजनाओं का पूरा लाभ हितग्राहियों को देना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गये हैं। वही निर्देशित किया कि तीनों जिले में खरीदी के लिए निर्धारित केंद्रों पर किसानों की सुविधा और उपज की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित किए जाएँ।तीनों जिले में खरीफ फसलों के लिए खाद की उपलब्धता एवं आपूर्ति की समीक्षा करते हुए कहा कि खाद की लगातार आपूर्ति सुनिश्चित करें।

कृषि मंत्री  कमल पटेल ने कहा कि जन-प्रतिनिधियों के साथ चर्चा कर केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाए। किसानों के लिए नजदीकी सेंटरों पर उपार्जन व्यवस्था सुनिश्चित करें। खरीदी के लिए विकेंद्रीकृत व्यवस्था अपनाई जाए। किसानों को समय पर भुगतान हो यह भी सुनिश्चित करें।बैतूल जिले (Betul District) के घोड़ाडोंगरी और शाहपुर क्षेत्र में अमानक बीज वितरण से खराब हुई फसलों की विस्तृत जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए।  जिन किसानों (Farmers) को नुकसान हुआ है उनकी रिपोर्ट शीघ्र भेजें ताकि आवश्यक सहायता पहुंचाई जा सके।

यह भी पढ़े.. 1 जुलाई से होने जा रहा है बड़ा चेंज, Bank-Driving Licence समेत ये सभी नियम बदलेंगे

कृषि मंत्री ने कहा कि केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा 5 माह के निशुल्क राशन वितरण की व्यवस्था की गई है। उचित मूल्य दुकानों से शत-प्रतिशत पात्र हितग्राहियों तक राशन पहुंचे यह सुनिश्चित करें। निगरानी समिति द्वारा उचित मूल्य दुकानों पर राशन वितरण कार्य की सघन मॉनिटरिंग की जाए। कोई भी गरीब भूखा ना सोए। विशेष ध्यान रखें कि जिनके पास पात्रता पर्ची नहीं है, उन्हें ग्राम पंचायत सभा के माध्यम से सूची प्राप्त कर उन्हें भी राशन का वितरण किया जाए। राशन वितरण कार्य की मॉनिटरिंग की जाए। किसी भी स्तर पर गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित उचित मूल्य दुकानों के लाइसेंस निलंबन और FIR सहित कड़ी कार्यवाही करें।

बता दे कि MP में गेहूं, चना, मसूर और सरसों के बाद अब 15 जून से समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी (Mung bean) शुरु की गई है, जो 90 दिनों तक की जाएगी। केन्द्र सरकार द्वारा मूँग का समर्थन मूल्य 7 हजार 196 रुपये प्रति क्विंटल निश्चित किया गया है।वही सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने ऐलान करते हुए कहा है कि मूंग का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा, मप्र सरकार किसानों के पसीने की पूरी कीमत देगी।

यह भी पढ़े.. MP Teachers: शिक्षकों के लिए राहत भरी खबर, अब 30 जून तक कर सकते है आवेदन

गौरतलब है कि भारत सरकार (India Government) द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर ग्रीष्मकालीन मूंग का उपार्जन प्रारंभ कर दिया गया है। पूर्व में इस योजना का लाभ 27 जिलों को मिल रहा था। अब इनमें भोपाल, बुरहानपुर और श्योपुरकला को भी शामिल कर लिया गया है। इस प्रकार प्रदेश के 23 जिलों में ग्रीष्मकालीन मूंग का उपार्जन किया जायेगा।केन्द्र सरकार (Central Government) द्वारा मूँग का समर्थन मूल्य 7 हजार 196 रुपये प्रति क्विंटल निश्चित किया गया है।