कृषि मंत्री कमल पटेल ने फसल बीमा राशि के भुगतान को लेकर अधिकारियों को दिए निर्देश

बीते दिनों शाजापुर में किसानों द्वारा 2019 सोयाबीन फसल की नुकसानी पर बीमा राशि आवंटन शिकायत दर्ज की गई थी। जिसके बाद किसानों के 2019 की फसल बीमा राशि वितरण के संबंध में शुक्रवार को सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने कलेक्टर दिनेश जैन के साथ बैठक की। इx

CABINET MEETING

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल (kamal patel) ने विभागीय समीक्षा करते हुए अधिकारियों को फसल बीमा योजना (Crop Insurance Policy) के लंबित भुगतान तत्काल कराए जाने का निर्देश दिया है। कमल पटेल ने अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि किसी भी जिले से भुगतान संबंधित शिकायत नहीं आनी चाहिए।

दरअसल पिछले दिनों शाजापुर में किसानों द्वारा फसल बीमा राशि की योजना को लेकर शिकायत दर्ज कराई गई थी। जिसकी चर्चा करते हुए कृषि मंत्री कमल पटेल ने शाजापुर कलेक्टर (Shajapur Collector) से चर्चा की। उन्होंने कहा कि किसानों की समस्या का निराकरण किया जाए और फसल बीमा की राशि का भुगतान किया जाए।

Read this: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का सख्त लहजा, कहा- इनके विरुद्ध चलाया जाएगा सघन अभियान

कृषि मंत्री कमल पटेल ने अधिकारी को निर्देश दिया है कि विभाग की योजना के सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। इसके साथ ही राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस योजना, उर्वरक की सैंपलिंग, उपलब्धता, लाइसेंस के नवीनीकरण, आउट सोर्स मेन पावर की अनुमति और स्वीकृति के संबंध में भी चर्चा की गई। सरसों के लिए विशेष प्रोग्राम संचालित करने, हरित कृषि पर योजना के प्रभावी तरीके से लागू करने के अध्यादेश के अंतर्गत किसानों को लाभान्वित करने के लिए भी विस्तार से चर्चा की गई।

बता दें कि बीते दिनों शाजापुर में किसानों द्वारा 2019 सोयाबीन फसल की नुकसानी पर बीमा राशि आवंटन शिकायत दर्ज की गई थी। जिसके बाद किसानों के 2019 की फसल बीमा राशि वितरण के संबंध में शुक्रवार को सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार ने कलेक्टर दिनेश जैन के साथ बैठक की। इसके साथ ही फसल बीमा राशि आवंटित में हुई विसंगतियों को देखकर उस पर विस्तृत चर्चा की गई थी। किसानों का कहना है की फसल बीमा के प्रीमियम राशि जिन किसानों ने जमा कर दिए। उन्हें भी फसल बीमा का लाभ नहीं मिला। इसके बाद कृषि मंत्री कमल पटेल ने शाजापुर कलेक्टर से दूरभाष पर चर्चा की और उन्हें निर्देश दिए।