प्रदेश की सियासी घटनाक्रम के बीच अब राजभवन में भी हलचल तेज

भोपाल।

प्रदेश की सियासी गतिविधियों के बीच अब मध्य प्रदेश(madhya pradesh) राजभवन में भी हलचल तेज हो गई है। खबर के मुताबिक अभी अभी हरियाणा(hariyana) के पूर्व राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी और महाधिवक्ता पुष्पेंद्र कौरव राजभवन पहुंचे हैं। जिसके बाद से कई तरह की चर्चा तेज हो गई है। उम्मीद की जा रही है कि राजभवन की शक्तियों को लेकर राज्यपाल लालजी टंडन(lalji tandon) इन लोगों से सलाह मशवरा कर सकते हैं।

वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधिमंडल भी राज्यपाल लालजी टंडन से मिलने के लिए पहुंचा था। जहाँ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(shivraj singh chouhan) के अलावा नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव(gopal bhargava), भूपेंद्र सिंह(bhupendra singh), पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा(narottam mishra) और रामपाल सिंह(rampal singh) शामिल थे। बीजेपी(bjp) प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल टंडन से कमलनाथ सरकार(kamalnath government) के बहुमत साबित करने की मांग की है।बीजेपी द्वारा 16 मार्च को शुरू होने वाले सत्र के पहले दिन सरकार से बहुमत साबित करने की मांग की गई है। जहां राज्यपाल टंडन से 22 विधायकों के इस्तीफे का जिक्र भी किया गया है।

बताते चलें कि इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री चौहान के गृह निवास पर बीजेपी नेताओं की बड़ी बैठक हुई थी। जहां बीजेपी के सभी कद्दावर नेता मौजूद थे। बैठक में फ्लोर टेस्ट(floor test) को लेकर चर्चाएं भी हुई थी। अटकलें तेज है कि बजट सत्र के पहले ही दिन राज्यपाल के अभिभाषण के बाद बीजेपी कमलनाथ सरकार से बहुमत साबित करने की मांग कर सकती है। वहीं सूचना के अनुसार विधानसभा अध्यक्ष प्रजापति 2 विधायकों पर सख्त कार्रवाई कर सकते हैं।