जबलपुर में बोले शाह- CAA छीनने नहीं बल्कि नागरिकता देने का प्रावधान, विपक्ष फैला रहा भ्रम

भोपाल/जबलपुर।

 नागरिकता संशोधन कानून को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज जबलपुर में सभा करने पहुंचे  और सभा को संबोधित करते हुए कहा कि CAA पर भाजपा एक जन जागरण अभियान चला रही है।ये जन जागरण अभियान भाजपा इसलिए चला रही है क्योंकि कांग्रेस पार्टी, केजरीवाल, ममता बनर्जी, कम्यूनिस्ट ये सभी इकट्ठा होकर देश को गुमराह कर रहे हैं।आज मैं बताने आया हूं कि CAA में कहीं पर भी किसी की नागरिकता छीनने का प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है।

शाह ने आगे कहा कि जब देश का बंटवारा हुआ और कांग्रेस पार्टी ने देश का बंटवारा धर्म के आधार पर किया।बंटवारे के समय पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान से हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाइ को भारत आना था, मगर उस समय स्थिति सही नहीं होने के कारण वहां वो रह गए।हमारे देश के सभी नेताओं ने आश्वासन दिया कि आप अभी वहां रह जाइए और आप जब भी कभी भारत आएंगे तो आपका स्वागत किया जाएगा, भारत आपको नागरिकता देगा

 यह जबलपुर सालों से देश के संस्‍कार के क्षेत्र में एक उर्जा का स्थान बना हुआ। यही धरती है जहां भेड़ाघाट का सौदर्य मां नर्मदा ने बनाया है। यहीं भूमि है जिसका आचार्य विनोबा भावे ने संस्कारधानी का नाम दिया। यहीं भूमि है जहां आचार्य रजनीश ,रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय में पढ़ाते रहे। यहां वीररघुनाथ शाह ने भारत माता के लिए अपने प्राण दे दिए। यहीं रानी दुर्गावती ने मुगलों के दांत खट्टे करके वीरता दिखाई। इससे पहले एयरपोर्ट पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज, प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह समेत कई बीजेपी नेताओं ने उनका स्वागत किया।

शाह ने आगे कहा 2 जुलाई 1947 को महात्मा गांधी जी ने कहा- जिन लोगों को पाकिस्तान से भगाया गया, जो पाकिस्तान में रह गए हैं उनको पता होना चाहिए कि वो भारत के नागरिक थें, जब भी भारत में आना चाहते हैं भारत उनको नागरिकता देगा।आज सारे कांग्रेसी पूरे देश में CAA का विरोध कर रहे हैं।जो गांधी जी ने कहा था, राहुल बाबा आप गांधी जी की भी नहीं सुनोगे।महात्मा गांधी जी को तो कबका आपने छोड़ दिया है

इधर शाह को काले झंडे दिखाने पहुंचे कांग्रेसी गिरफ्तार

उधर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को काले झंडे दिखाने की कोशिश में पुलिस युवा कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। करीब दो दर्जन युवा कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार किया गया है। रांझी के अंकित मिश्रा और अन्य कांग्रेसी नेता अमित शाह को काले झंडे दिखाने के लिए इकट्ठा हुए थे। ये सभी सीएए और एनआरसी के विरोध में तख्तियां लिए हुए थे।

जबलपुर में बोले शाह- CAA छीनने नहीं बल्कि नागरिकता देने का प्रावधान, विपक्ष फैला रहा भ्रम