भाषण का सही अनुवाद न करने पर अनुवादक को अमित शाह ने टोका, देखिये वीडियो

एक प्रशंसक ने कहा कि 'तमिल सीख लीजिए ,राहुल गांधी से पहले सीखना फायदा ही फायदा रहेगा।' वही एक दूसरे पर प्रशंसक ने कहा है कि 'वाह वाह ,क्या बात है सर।'

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (home minister amit shah)इन दिनों चुनाव प्रचार के लिये तमिलनाडु (tamilnadu) में है और धुआंधार ढंग से मोदी सरकार (modi government) की नीतियों की तारीफ करते हुए लोगों से वोट मांग रहे हैं। प्रचार के दौरान ही अमित शाह का एक वीडियो तेजी के साथ वायरल हो रहा है। जिसमें वे हिंदी में दिए गए अपने भाषण का तमिल भाषा में अनुवाद कर रहे अनुवादक (translatior) को टोकते हुऐ नजर आ रहे हैं और स्थानीय नेता से कह रहे हैं कि ये अनुवादक ढंग से अनुवाद नहीं कर पाते।

द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) और कांग्रेस (Congress) पर जमकर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि ‘तमिलनाडु के अंदर ही 2G, 3G और 4G साफ तौर पर दिखाई देता है। 2G का मतलब मारन परिवार की दो पीढ़ियां, 3G का मतलब करुणानिधि परिवार की तीन पीढ़ियां और 4G का मतलब गांधी परिवार की चार पीढ़ियां है। यह सब का सब तमिलनाडु में मिलता है।’ अमित शाह के हिंदी के इस वाक्य को जब तमिल भाषा में अनुवादक ने ट्रांसलेट किया तो अमित शाह समझ गए कि वह सही अनुवाद नही कर रहा है और उन्होंने कहा कि ‘इसे भी ढंग से ट्रांसलेट करो भाई। राजा जी, यह ढंग से ट्रांसलेट नहीं करते।’

Read More: MP News: विपक्ष ने दिया शिवराज सरकार को समर्थन, प्रदेश के दो जगहों के नाम बदले

अमित शाह के इस वाक्य पर लोग तरह-तरह के रिमार्क्स दे रहे हैं। एक प्रशंसक ने कहा कि ‘तमिल सीख लीजिए ,राहुल गांधी से पहले सीखना फायदा ही फायदा रहेगा।’ वही एक दूसरे पर प्रशंसक ने कहा है कि ‘वाह वाह ,क्या बात है सर।’
अमित शाह ने इसी जनसभा में अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (AIDMK) और एनडीए (NDA) की जमकर तारीफ की और कहा कि ‘हम लोग किसान और गरीब की चिंता करते हैं।

उनके कल्याण के लिए काम करते हैं जबकि कांग्रेस और डीएमके का काम केवल और केवल बांटो और राज करो की रण नीति पर राज करना है। परिवारवाद इस कदर हावी है कि स्टालिन उधनिधि को मुख्यमंत्री बनाने को लेकर और सोनिया गांधी (sonia gandhi) राहुल बाबा को प्रधानमंत्री बनाने को लेकर चिंतित है।’