बीजेपी के वरिष्ठ नेता गरजे- “ब्राह्मणों का कोई माई का लाल भक्षण नहीं कर सकता”

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। बीजेपी के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव (Murlidhar Rao) का ब्राह्मणों के बारे में दिया गया बयान पार्टी के लिए मुसीबत बनता जा रहा है। ग्वालियर में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के सामने मंगलवार को पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा (Anoop Mishra) ने समाज में ब्राह्मणों की उपयोगिता बताते हुए बड़ा बयान दे डाला।

भाजपा के वरिष्ठ नेता, पूर्व मंत्री और स्व.अटल बिहारी वाजपेयी जी के भांजे अनूप मिश्रा ने कहा है कि ब्राह्मण सुदामा है लेकिन जरूरत पड़ने पर परशुराम भी बन जाता है। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण अहिंसक प्रवृत्ति के होते हैं। वे किसी का बुरा सोचते नहीं, करते नहीं। लेकिन अगर जरूरत होती है तो परशुराम बनकर संहार भी कर देते हैं। उन्होंने कहा कि ब्राह्मणों का कोई माई का लाल भक्षण नहीं कर सकता। अनूप ग्वालियर में ब्राहण सभा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

सभा में शामिल हुए ब्राह्मणों को संदेश देते हुए उन्होंने कहा कि फरसा प्रतीक है आतताईयों को खत्म करने का। इसीलिए हमें लोगों को याद दिलाना होगा कि ब्राह्मणों का, भगवान परशुराम का अपमान सहन नहीं किया जाएगा। इस दौरान मंच पर केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे जिन्होंने बाद में अपने भाषण में अनूप मिश्रा की तारीफों के पुल बांध दिए। वैसे भी ग्वालियर चंबल अंचल में सिंधिया की अनूप के साथ जुगलबंदी पहले से चर्चा में रही है। ब्राह्मणों के बारे में अनूप का यह बयान इसलिए और ज्यादा प्रासंगिक है क्योंकि दो दिन पहले ही बीजेपी के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव के बयान कि ‘बीजेपी की एक जेब में ब्राह्मण और एक जेब में बनिये है’ पर जमकर बवाल मच चुका है। कांग्रेस ने इसे मुद्दा बना लिया है और बीजेपी से सफाई देते नहीं बन रही। ऐसे में अब अनूप मिश्रा का यह बयान एक बार फिर चर्चा में है और इसे सीधे तौर पर ब्राह्मणों की नाराजगी के रूप में देखा जा रहा है।