धारा 370 हटने पर प्रदेश में जश्न का माहौल, मप्र के नेताओं ने दी ऐसी प्रतिक्रियाएं

article-370-revoked-from-jammu-kashmir-

भोपाल।

मोदी सरकार ने भारत के इतिहास में जम्मू-कश्मीर को लेकर आज बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटा दिया है। साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बना दिया है।मोदी सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले के बाद देश-प्रदेश से बीजेपी नेताओं की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही है, कई फिल्मी हस्तियों ने भी अपनी प्रतिक्रियाएं दी और मोदी के फैसले का स्वागत किया है। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि श्यामाप्रसाद मुखर्जी व दीनदयाल उपाध्याय एवं हजारों और राष्ट्रभक्तों का आज सही मायनों में सपना पूरा हुआ।वही कैलाश विजयवर्गीय ने इसे स्वागत योग्य कदम बताया। हालांकि  मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने इसका विरोध किया है।

शिवराज ने ट्वीट कर लिखा है कि राष्ट्र के गौरवशाली इतिहास का ये स्वर्ण पल हमारे मनमस्तिष्क में हमेशा अंकित हो जाएगा। आज जन संघ के समय से संजोया हुआ करोड़ों भारतियों का सपना साकार हुआ है। आर्टिकल धार 370 और धारा 35A की समाप्ति पर पीएम नरेन्द्र मोदी को अभिनंदन और गृह मंत्री अमिक शाह को धन्यवाद। एक सपना था जो साकार हुआ है, एक संकल्प था जो पूरा हुआ है। ‘एक देश में दो विधान, दो प्रधान, दो निशान नहीं चलेंगे’। आज श्रद्धेय श्यामाप्रसाद मुखर्जी व दीनदयाल उपाध्याय एवं हजारों और राष्ट्रभक्तों का सपना पूरा हुआ। हम उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे।

अगले ट्वीट में शिवराज ने लिखा है कि आज भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी को सच्ची श्रद्धांजलि दी गई है। एक देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान नहीं चलेंगे।धारा 370  की समाप्ति देश के लिए गौरव और उल्लास का अप्रतिम क्षण है। गर्व के इस अनूठे पल की देश और देशवासियों को बधाई।भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री भारत को भगवान का वरदान हैं। ऐसी दृढ़राजनैतिक इच्छा शक्ति के लिए प्रधानमंत्री जी का अभिनंदन और गृहमंत्री जी को बधाई। पंडित  जवाहरलाल नेहरू द्वारा की गई जम्मू-कश्मीर की भूल को मोदी जी ने सुधार दी है।जम्मू-कश्मीर में अब आतंकवाद नहीं बचेगा। यह भ्रष्टाचार से मुक्त होगा अैर इसका दसों दिशाओं में विकास होगा। सही अर्थों में आज जम्मू-कश्मीर को आजादी मिली है।

सही दिशा में सरकार – कैलाश विजयवर्गीय

सरकार के इस फैसले पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि सरकार सही दिशा में है।विजयवर्गीय ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर से धार 370 हटाने की सरकार के गृहमंत्री अमित जी पेशकश स्वागत योग्य कदम है। जम्‍मू कश्‍मीर के पुनर्गठन विधेयक के अनुसार जम्‍मू कश्‍मीर को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया। लद्दाख भी केंद्र शासित प्रदेश बनेगा।डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी जी को सच्ची श्रद्धांजलि । धारा 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को वास्तविक आजादी तो आज मिली है।

केवल तीन लोग जानते है देश में क्या हो रहा-दिग्विजय

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि जम्मू कश्मीर के लोगों और कश्मीरियत के साथ हम उसी दृढ़ता से खड़े हैं, जितनी दृढ़ता से हम राष्ट्रीय एकता और लोकतंत्र के पक्ष में हैं। देश में तानाशाही की आहट है। ख़ुद सरकार ने भ्रम और आशंका का माहौल बनाया है। केवल तीन लोग जानते हैं क्या हो रहा है।प्रदेश में बीजेपी के अन्य नेताओं भी इस ऐतिहासिक फैसले पर केंद्र की सरकार को बधाई दिया है। सबने एक सुर में कहा है कि यह राष्ट्र के लिए स्वर्णिम पल है। साथ ही संघ ने भी बीजेपी के फैसले का समर्थन किया है। मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने इसका विरोध किया है।

गूंजे भारता माता के नारे

 ग्वालियर हाई कोर्ट में भी वकीलों ने इस फैसले का स्वागत किया और इस पर जश्न मनाया। राज्यसभा की कार्यवाही देख रहे वकीलों ने गृह मंत्री की राज्य से धारा 370 हटाने की सिफारिश सुनी वो खुशी से झूम उठे और वार रूम भारत माता की जय के नारे के साथ गूंज उठा।

राज्य सभा में किसने क्या कहा?

गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस- हम भारत के संविधान के साथ हैं। हम हिंदुस्तान के संविधान की रक्षा के लिए जान की बाजी लगा देंगे लेकिन आज बीजेपी संविधान की हत्या कर दी।

पीडीपी सांसदों का विरोध-पीडीपी के राज्य सभा सांसद नजीर अहमद लावे और एमएम फैयज ने संसद परिसर में विरोध किया उन्होंने संविधान की प्रति फाड़ने की कोशिश की। दोनों को सदन से निकाल जाने के लिए कहा गया। फैयज ने विरोध में अपना कूर्ता फाड़ दिया।

सतीश चंद्र मिश्रा, बसपा– हम पूरी तरह इसके समर्थन में है। हम चाहते हैं कि बिल पास किया जाए. हमारी सरकार ध��रा 370 बिल और अन्य बिल के खिलाफ कोई विरोध नहीं जताया है।

मुफ्ती ने कहा- भारतीय लोकतंत्र का काला दिन

धारा 370 के सरकार के कदम पर मेहबूबा मुफ्ती ने कहा, भार��ीय लोकतंत्र के लिए आज काला दिन है। भारत सरकार का एकतरफा फैसले के तहत धारा 370 को खत्म करना गैरकानूनी और असंवैधानिक है.।धारा 370 पर सरकार के फैसले के गंभीर परिणाम होंगे। वे लोगों को डराकर जम्मू-कश्मीर को चाहते हैं. भारत कश्मीर पर अपना वादा निभाने में विफल रहा।

भारत सरकार की मंशा द्वेषपूर्ण-महबूबा 

जम्मू कश्मीर में पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर लिखा है ‘भारत सरकार की मंशा पूरी तरह से साफ और द्वेषपूर्ण है। वे भारत में एकमात्र मुस्लिम बहुल राज्य की भौगोलिक स्थिति बदलना चाहते हैं। मुस्लिमों को दोयम दर्जा देना चाहते हैं। जिससे वे अपने ही राज्य में दूसरे दर्जे के नागरिक बनकर रहें।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here