दोबार शुरु होते ही शिव की “संबल” पर गर्माई सियासत, सोशल मीडिया पर आक्रामक हुई कांग्रेस

भोपाल।कलश तिवारी

प्रदेश की शिवराज(shivraj) सरकार के दोबारा से संबल योजना शुरु करने सियासत गर्मा गई है।कांग्रेस(congress) ने योजना को लेकर सरकार को घेरना शुरु कर दिया है। एक तरफ जहां सीएम शिवराज(CM Shivraj) ने आज मंगलवार को योजना का शुभारंभ करते हुए 1863 हितग्राहियों के खाते में 41.29 करोड़ का भुगतान वही कांग्रेस और पूर्व मंत्रियों ने ट्वीटर(Twitter) के माध्यम से हमले करना शुरु कर दिया है।कांग्रेस द्वारा ट्वीटर के माध्यम से पूर्व मंत्री के वीडियो(video) शेयर(share) किए गए है जिसमे वे संबल में घोटाले की जानकारी दे रहे है। बता दे कि सत्ता में आते ही कमलनाथ सरकार(kamalnath government) ने इस योजना को बंद कर दिया था लेकिन शिवराज ने प्रदेश मे बीजेपी की सरकार बनते ही इसे फिर से लागू कर दिया है।

दरअसल मध्यप्रदेश में असंगठित श्रमिकों के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजना फिर से प्रारंभ कर दी गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस योजना का मंगलवार को औपचारिक शुभारंभ किया। संबल योजना 2018 में प्रारंभ की गई थी जिसे बाद में तत्कालीन सरकार ने बंद कर दिया था। मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों संबल योजना पुन: शुरू करने की घोषणा की थी जो अब शुरू हो गई है।

सोशल मीडिया पर आक्रामक हुई कांग्रेस

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा(p.c.sharma) ने शिवराज सरकार की ओर से शुरु हो रही संबल योजना पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा शिवराज सरकार सिर्फ बीजेपी(BJP) कार्यकर्ताओं को लाभ पहुंचाने की लिए इस योजना को दोबारा शुरु कर रही है। समय रहते जरुरी कदम उठाए गए होते तो आज ऐसी स्थिति नही होती। आज भी सरकार सही कदम नही उठा रही प्रदेश में लगातार कोराना(Corona) संक्रमित मरीजों का ग्राफ बढ़ रहा है। कोरोना महामारी(corona pandemic) मे प्रदेश के नंबर वन होने पर पूर्व मंत्री ने शिवराज सरकार को दोषी ठहराया है। वहीँ पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा(sajjan verma) ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज को जाँच कर योजना लागू करनी चाहिए क्यूंकि आपकी पार्टी के ही नेता महेन्द्र सिंह सिसोदिया(mahendra singh sisodhiya) ने आपकी संबल योजना में बड़े भ्रष्टाचार और अपात्रों को लाभ देने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने सीएम चौहान(CM Chauhan) की चुटकी लेते हुए कहा कि कृपया सही जाँच कर योजना लागू करें।

पूर्व मंत्रियों के वीडियो जारी किया खुलासा

इसके साथ ही एक के बाद एक ट्वीट करते हुए एमपी कांग्रेस ने कहा है कि संबल योजना का सच ये है कि शिवराज के नेता ही इस योजना को पूरा फ़र्ज़ी बताते हैं। वही उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता और पूर्व श्रम मंत्री महेन्द्र सिसोदिया का कहना है कि संबल योजना में अपात्र लोगों को लाभ दिया गया है। बता दें कि सिसोदिया ने कहा था कि संबल योजना में शिवराज सरकार द्वारा 40 से 50% फर्जी लोगों को जोड़ा गया था। वहीँ एक अन्य ट्वीट में एमपी कांग्रेस ने कहा है कि संबल योजना का पर्दाफाश मीडिया द्वारा किया गया है एमपी कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी ने अपने अमीर पार्षदों तक को संबल योजना के तहत सस्ती बिजली देने का काम किया, वहीं पात्र लोगों को इस योजना से दूर रखा। वहीँ कांग्रेस ने तंज कसते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज जी,भ्रष्टाचार बिना नहीं रहा जाता क्या ..?

सम्बल योजना का यह है लाभ

संबल योजना में असंगठित श्रमिक उन्हें माना गया है जो नौकरी, स्वरोजगार, घरों में कार्य करने वाले, किसी एजेंसी ठेकेदार के जरिए या प्रत्यक्ष रूप से कार्यरत जैसे भविष्य निधि और ग्रेजुयटी आदि समाजिक सुरक्षा का लाभ नही मिलता। संबल योजना में पंजीकृत असंगठित श्रमिकों की सामान्य मृत्यु की दशा में सहायता राशि 2 लाख रूपये की अनुग्रह राशि का प्रावधान है। दुर्घटना में मृत्यु की दशा में अनुग्रह सहायता राशि 4 लाख रूपये स्थायी अपंगता पर अनुग्रह सहायताराशि 2 लाख रूपये और आशिंक स्थायी अपंगता में अनुग्रह सहायता राशि 1 लाख रूपये देने का प्रावधान है। मृत्यु होने पर श्रमिक के उत्तराधिकारी को तत्काल 5 हजार की राशि अंत्येष्टि सहायता के रूप मेंदी जाती है। संबल योजना के अंतर्गत पंजीकृत श्रमिकों के परिवार को नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा तथा महाविद्यालयीन स्तर तक नि:शुल्क शिक्षा की सुविधा भी प्रदान की जाती है।