सिंधिया को दिखाए काले झंडे, गाड़ी पर पथराव का आरोप, भाजपाईयों ने घेरा थाना

1410

भोपाल।
पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के दल बदलने के बाद जहां भाजपा में जश्न का माहौल है वही कांग्रेस में जमकर बवाल मचा हुआ है। नेता-कार्यकर्ता सिंधिया पर जमकर हमले बोल रहे है, विवादित नारेबाजी की जा रही है। इसी बीच शुक्रवार देर रात जब सिंधिया एयरपोर्ट की ओर रवाना हुए तो कांग्रेसियों ने ना सिर्फ काले झंडे दिखाए बल्कि उनके काफिले पर पत्थर भी बरसाए। इस बात का खुलासा खुद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने किया है।

दरअसल, शुक्रवार शाम को जैसे ही सिंधिया दिल्ली जाने के लिए एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए तभी कमला पार्क और राजा भोज की स्टेचू के पास वीआईपी रोड पर उन पर अज्ञात लोगों के द्वारा हमला करने का प्रयास किया गया ।उन्हें काले झंड़े दिखाए।वही भाजपा का आरोप है कि राजाभोज की प्रतिमा के पास से गुजरते समय उनकी गाड़ी पर पत्थर भी फेंके गए। कई कार्यकर्ता गाड़ी पर चढ़ने की कोशिश की। इसी के चलते देर रात वीडियो के आधार पर धारा 307 के तहत नामजद एफआईआर करने की मांग को लेकर भाजपा ने श्यामला हिल्स थाने का घेराव किया।बताया जा रहा है कि रात 12 बजे बाद भी कार्यकर्ता जमे हुए थे।हालांकि पुलिस पथराव और गाड़ी पर चढ़ने जैसी घटना से इनकार कर रही है। लेकिन हंगामे को देखते हुए पुलिस ने 30-35 अज्ञात कार्यकर्ताओं पर रास्ता रोकने और प्रदर्शन करने का मामला दर्ज किया है।

शिवराज बोले-बौखलाहट में सिंधिया पर हमले करवा रही सरकार
शिवराज ने कहा कि मैं स्तब्ध हूं कि आज प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से समाप्त हो चुकी है।प्रदेश में अराजकता का माहौल है।आम आदमी की बात छोड़िए पूर्व केंद्रीय मंत्री भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया के ऊपर जानलेवा हमला करने का प्रयास किया गया, उनकी गाड़ी को रोकने की कोशिश की गई , उन पर पत्थर बरसाए गए ।बमुश्किल ड्राइवर ने वहां से अपनी गाड़ी निकाली ।शिवराज ने आगे कहा कि अब आप सहज कल्पना कर सकते हैं कि प्रदेश की स्थिति कैसी होगी । ऐसी सरकार जो बहुमत खो चुकी है वह बौखलाहट में हमले करवा रही है। मैं इस हमले की निंदा करता हूं और पुलिस प्रशासन से अपील करता हूं कि जो भी दोषी हैं उन पर कार्रवाई की जाए ।भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता श्रीमान ज्योतिरादित्य सिंधिया के ऊपर हुए हमले को लेकर एफआईआर करने गए हैं

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here